अनारकली के चक्कर मे सलीम गया जेल

गाजीपुर- लैला मजनू की कहानियां तो आप सभी ने सुनी होंगी लेकिन एक नई कहानी जो गाजीपुर जनपद के जमानिया कस्बे की है , मैं आप लोगों को बता रहा हूं 11 मार्च को जमानिया कस्बे के लैला -मज़नू बिना अपने घर को बताए हुए फरार हो गए। लैला के परिजनों ने बहुत समय तक ढूंढने के बाद लैला के गुमशुदगी की रिपोर्ट जमानिया कोतवाली में लिखा दी । जमानिया पुलिस लैला की तलाश में लगातार जुटी रही लेकिन लैला का कुछ पता नहीं चला। 17 फरवरी कि भोर में 3 बजे जमानिया कोतवाली में तैनात SI रत्नेश द्विवेदी को मुखबिर ने फोन करके सूचना दिया कि गुमशुदा लड़की अपने प्रेमी के साथ कहीं बाहर जाने के लिए जमानिया रेलवे स्टेशन पर ट्रेन की प्रतीक्षा कर रही है ।मुखबिर की सूचना पर SI रत्नेश द्विवेदी तत्काल हमराहियों के साथ जमानिया रेलवे स्टेशन पर पहुंचे और गुमशुदा युवती के साथ उसके प्रेमी को गिरफ्तार कर 4:00 बजे भोर में जमानिया कोतवाली लाएं। जमानिया कोतवाली लाने के बाद जमानिया पुलिस ने प्रेमी को जेल भेज दिया। पुरे जमांनिया मे लोग चर्चा कर रहे है कि दोनो 5 दिन कहा थे। इन्हें शरण देने/छुपाने वाला कौन है ? उसे भी सजा मिलनी चाहिए।

Play Store से हमारा एप्प डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें Find us on Play Store