आंगनबाड़ीयों के सम्मान मे, कुदे पुर्व सी०एम०अखिलेश यादव मैदान में

लखनऊ- अपने मानदेय बृद्धि की माँग को लेकर 23 अक्टूबर से लखनऊ के जी०पी०ओ०पार्क मे आंगनबाडी कर्मचारी एवं सहायिका एसोसिएशन के बैनर तले धरना दे रही हजारों कार्यकरतियो को , 23अक्टूबर को दो बार बर्बर लाठीचार्ज किया ,लेकिन आंगनबाडी टस से मस नही हुई। 23-24 अक्टुबर के मध्य रात्रि भारी पुलिस बल के साथ हजरतगंज कोतवाल ने जी०पी०ओ०पार्क जाकर एसोसिएशन की प्रदेश अध्यक्ष गीतांजलि मौर्य ,प्रदेश महासचिव प्रभावती देबी सहित 11 आंगनबाडी कार्यकरतियो को गिरफ्तार कर हवालात मे डाल दिया। इस बात से नाराज आंगनबाडी वर्करों ने हजरगंज चौराहा रात्रि से ही जाम कर दिया। 24 अक्टूबर को सुबह 11 बजे से ही लखनऊ का सिविल प्रशासन और पुलिस प्रशासन आंगनबाडी कार्यकरतियो से जाम खत्म करने पर प्रदेश अध्यक्ष गीतांजलि मौर्या को छोडने की बात कह रहा था लेकिन आंगनबाडी कार्यकरतियो का कहना था कि आप पहले हमारे प्रदेश अध्यक्ष को छोडिए फिर हम जाम खत्म कर देगे। अपराहन 3.30 पर लखनऊ पुलिस ने कुछ महिला पुलिस के साथ पुरूष पुलिसकर्मियों के साथ आंगनबाडी वर्करों पर भंयकर लाठीचार्ज कर दिया। पुलिस लाठी चार्ज मे दो दर्जन से अधिक गंभीर रूप से घायल हो कर हास्पिटलाईज हो गयीं। पुलिस की बर्बरता से पुरा इलाका आंगनबाडी वर्करों के चींख पुकार से थर्रा उठा। आज उत्तर प्रदेश के पुर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने इनके साथ हुए अत्याचार की कहनी आंगनबाडीयों की जूबानी सुनने के बाद काफी दुखी ह़ो गये और सपा के कद्दावर नेता अहमद हसन, राजेन्द्र चौधरी सहित 3अन्य लोगों को लगा कर क्या-क्या कानूनी कार्यवाही का ताना बाना बुना यह गोपनीय है। कल 26 अक्टूबर को पुर्व सी०एम०अखिलेश यादव सायद प्रेस कांफ्रेंस कर सक्ते है।

Play Store से हमारा एप्प डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें Find us on Play Store