आजमगढ़-हत्यारोपी बहु का सनसनीखेज मर्डर प्लान

आजमगढ़- लेखपाल और उसकी पत्नी की हत्या का सनसनीखेज खुलासा हुआ है।लेखपाल की बहू ने बेहद ही खौफनाक प्लान बना कर अपने सास-ससुर की हत्या करा दी। उसकी प्लानिंग ससुर की मौत के बाद पति भी जब मृतक आश्रित के रूप सरकारी नौकरी करने लगता तो कुछ दिन बाद उसकी भी हत्या करा कर बहु ज्योति खुद सरकारी नौकरी करती और अपने प्रेमी के साथ रहती।इसी लिए उसने प्रेमी के साथ मिलकर वारदात को अंजाम दिया।पुलिस ने हत्या के मामले मे बहु सहित 7 लोगों को गिरफ्तार कर लिया है। जबकि दो अभियुक्त बबलू यादव पुत्र रामसकल यादव निवसी रूपाली कालोनी थाना कंधारापुर व पंकज यादव पुत्र रमाकांत निवासी कोठिया थाना रानी की सराय अभी भी फरार चल रहे है। मुख्य अभियुक्त पंकज पर 25 हजार का इनाम घोषित कर दिया है।

पित्थौरपुर गांव निवासी लेखपाल राम नगीना पुत्र स्व०लालता राम व उनकी पत्नी मनसा देवी की सोते समय धारदार हथियार से मार कर हत्या कर दी गई थी। 28 नवंबर की रात घटित हुई, घटना से पूरे क्षेत्र में सनसनी फैल गई थी। मामला दलित लेखपाल से जुड़ा होने के कारण राजनीतिक दलों ने दी इसे काफी तूल दिया था। कांग्रेस और समाजवादी पार्टी ने अपना दल भेजकर मामले की जांच भी कराई थी। हत्याकांड का खुलासा आजमगढ़ पुलिस के लिए चुनौती बनी हुई थी।खुलासे के लिए पुलिस की 5 टीमें लगी हुई थी। सर्विलांस सेल ने बहुत से अन्य लोगों का मोबाइल खंगाला तो सुराग मिलने लगा। इसके बाद सर्विलांस सेल व मुखबिर की सूचना पर पुलिस ने घटना में शामिल अखिलेश यादव पुत्र राजेन्द्र यादव निवासी गेलवारा थाना सिधारी को गिरफ्तार किया। उससे पूछताछ में पूरी घटना का खुलासा हो गया।

बहू का था खौफनाक प्लान एसपी अनुराग आर्य ने इस घटना का खुलासा करते हुए घटना में शामिल 7 लोगों को गिरफ्तार करने में सफलता पाई ।इस घटना के पीछे मृतक की बहू ज्योति का पंकज यादव नाम के लड़के से अवैध संबंध की बात सामने आई।मृतक की बहू ज्योति का पंकज यादव से अवैध संबंध था। ससुर की हत्या कर अपने पति को सरकारी नौकरी दिलाना चाहती थी बाद में पति की भी हत्या कर अपने प्रेमी पंकज यादव के साथ रहना चाहती थी।

कैसे हुआ खुलासा- एसपी अनुराग आर्य ने बताया कि इस घटना में पुलिस ने छै एंगल पर जांच शुरू की थी और मामले में 27 संदिग्ध अभियुक्तों से पूछताछ हुई।घटना में मृतक की बहू ज्योति की भूमिका मुख्य रूप से सामने आई। बहु ज्योति अपने प्रेमी के साथ मिलकर पूरी साजिश रची थी,आगे पति की भी हत्या करा कर मनमाने तरीके से जीना चाहती थी। इस मामले में पुलिस ने अखिलेश यादव पुत्र राजेंद्र यादव निवासी गेलवारा थाना सिधारी ,जितेंद्र कुमार मलिक उर्फ जेके मलिक पुत्र सुरेश राम निवासी हमीरपुर सैदवारा थाना रानी की सराय, गोलू उर्फ सर्वेश यादव पुत्र मगरू यादव निवासी तमोली थाना रानी की सराय, सिंटू यादव पुत्र सरभू यादव निवासी निवासी गेलवारा थाना सिधारी, धर्मेंद्र यादव पुत्र रामसकल यादव निवासी रूपाली कॉलोनी थाना कंधरापुर, रमाकांत यादव पुत्र मुंशी यादव निवासी कोठियां थाना रानी की सराय, ज्योति कौशल पत्नी प्रताप निवासी पित्थौरपुर थाना तरवां को पित्थौरपुर से गिरफ्तार किया गया।पुलिस ने आरोपियों की निशानदेही पर हत्या मे प्रयुक्त राड व चापड़ बरामद कर लिया है।