एकतरफा प्रेम में पागल युवक नें,किशोरी को जिन्दा जलाया

वाराणसी -भदोही में रविवार की देर शाम 10वीं की छात्रा पर एक सिरफिरे युवक ने मिट्टी का तेल डालकर जिन्दा जलाने का प्रयास किया। परिजनों से छात्रा को उपचार के लिए अस्पताल ले गएं, जहां चिकित्सकों ने 70 फीसदी से अधिक झुलसने के कारण उसे वाराणसी रेफर कर दिया। आज उस छात्रा की कबीरचौरा अस्पताल में इलाज के दौरान मौत हो गई। पुलिस ने इस मामले में आरोपित युवक के दादा को हिरासत में ले लिया है।

रविवार को भदोही शहर कोतवाल नवीन कुमार तिवारी ने बताया कि शहर के एक मोहल्ला निवासी व्यक्ति की 17 साल की बेटी को जलाने का आरोप सामने आया। जिस पर उसके पिता से तहरीर मांगी गई है। उन्होंने कहा कि आरोपित के खिलाफ शिकायत के बाद सख्त कार्रवाई की जाएगी, उसकी तलाश की जा रही है। बताया कि किशोरी की हालत चिंताजनक होने के कारण परिजन उसे वाराणसी ले गए हैं। ऐसे में रात तक तहरीर नहीं मिल पाई है।

उधर, पीड़ित छात्रा के पिता के अनुसार, उक्त सिरफिरा युवक आए दिन किशोरी को परेशान करता था। आजिज आकर उसने परिजनों को भी अवगत करा दिया था। आरोप है कि युवक रविवार की देर शाम छात्रा के घर में पीछे से घुसा। उसके हाथ में मिट्टी के तेल से भरा गैलन व माचिश थी। तेल उड़ेल कर उसने छात्रा को आग के हवाले कर दिया। आग का गोला बनी बेटी की चीख पुकार सुनकर जब तक परिजन पहुंचे, तब तक आरोपित फरार हो चुका था। आनन-फानन में छात्रा को निजी साधन से शहर के महाराजा बलंवत सिंह राजकीय अस्पताल लाया गया, जहां चिकित्सकों ने प्रथम उपचार के बाद कबीर चौरा वाराणसी के लिए रेफर कर दिया।