क्यो ग्रामिणों के आँखों से रात्रि की नीद गुम है ?

गाजीपुर – बरसात का मौसम आ चुका है और गंगा के जलस्तर में पिछले कई दिनों से बढ़ोतरी हो रही है ।सेमरां व व शिव राय का पूरा में कटान से बचाव के लिए ठोकर निर्माण और मरम्मत का जो कार्य चल रहा था, जल स्तर बढ़ जाने के कारण उसे रोक दिया गया है । ऐसे में गांव के लोगों को डर सता रहा है कि बीते साल की तरह इस साल भी कहीं उन्हें गंगा की रौद्र लहरों का सामना ना करना पड़े । बताते चलें कि गंगा के कटान से शिवराय का पूरा का 80% व सेमरा का 50% भाग गंगा में समाहित हो चुका है । वर्ष 2013 में सरकार ने कटान की रोकथाम के लिए ठोकर निर्माण प्रारंभ कराया था और उसी ठोकर का विस्तार व मरम्मत का कार्य इस साल भी किया जा रहा था । गांव में तीन जगहों पर ठोकर निर्माण का काम चल रहा है । शिवराय का पूरा में राम तलाई के पास , गांव के मध्य में दीनानाथ राय के घर के पास, व गांव के पश्चिमी सिरे पर ठोकर निर्माण का कार्य चल रहा था ।इनमें सबसे खराब हालत राम तुलई के पास वाले ठोकर का है । अब तक ठोकर की नीव तैयार हो सकी है ।बीते सप्ताह इसी जगह पर पत्थरों की कमी हो गई थी जिसके कारण कई दिनों तक काम रुका रहा। इसी तरह से मजदूरों की मजदूरी ना मिलने के कारण मजदूरों ने कार्य का बहिष्कार कर दिया था । विभागीय संविदा के मुताबिक ठोकर निर्माण का कार्य 26 जून तक पूरा हो जाना था लेकिन इसके बावजूद काम भी धीमी गति से चल रहे काम की वजह से तीनों जगहों का काम अधूरा पड़ा हुआ है ।जैसे-जैसे गंगा के जल स्तर में वृद्धि होती जा रही है वैसे-वैसे ग्रामीणों के आंख से रात्रि में नींद गुम होती जा रही है। आक्रोशित ग्रामीणों ने गाजीपुर टुडे को बताया यदि दुर्घटना घटती है तो बिभाग और संबंधित ठेकेदार के खिलाफ FIR दर्ज कराएंगे।

Also Read:  डाँ० राजकुमार गौतम ने किया पाँच हजार का आर्थिक सहयोग