गाजीपर-चित्कार से दहला गंगा घाट, 3 शव और मिला

गाजीपुर-एनडीआरएफ और एसडीआरएफ टीम शनिवार की सुबह गंगा डूबे लोगों की तलाश में जुट गई। घंटों प्रयास के बाद पिता-पुत्र सहित किशोरी का शव बरामद कर लिया। शव पर नजर पड़ते ही गंगा घाट की शांत फिजां में परिजनों की चीख-पुकार गूंजने लगे। एक किशोर का शव गोताखोरों ने घटना के दिन ही घंटों बाद बरामद कर लिया था।

मालूम हो कि सेमरा निवासी युगल किशोर उपाध्याय के घर के घर गुरुवार को जन्मदिन का कार्यक्रम था। इसमें शामिल होने के लिए कई रिश्तेदार भी आए थे। शुक्रवार की सुबह रिश्तेदार आजमगढ़ जिले के सुरहुटपुर निवासी अंकित तिवारी (14) उसकी बहन सारिका उर्फ तन्नू (28) और जौनपुर जिला के चंदवक थाना बरमनपुर गांव निवासी जयसिंह शर्मा (42) तथा उनका पुत्र ओम शर्मा (14) सहित अन्य सेमरा घाट पर गंगा में नहाने के लिए गए थे। इस दौरान पांच लोग डूबने लगे थे। लोगों ने प्रिया तिवारी को तो बचा लिया था।
लेकिन अंकित, उसकी बहन सारिका और जयसिंह शर्मा तथा उनका पुत्र ओम शर्मा डूब गए थे। सूचना मिलने पर स्थानीय अधिकारियों के साथ ही जिलाधिकारी और पुलिस अधीक्षक मौके पर पहुंच गए थे। अधिकारियों ने संबंधितों को शवों की तलाश कराने का निर्देश दिया था। घंटों मशक्कत के बाद गोताखारों ने अंकित का शव तो बरामद कर लिया था, लेकिन देर शाम तक डूबे अन्य लोगों का पता नहीं चल सका था। शनिवार की सुबह एनडीआरएफ और एसडीआरएफ टीम पहुंचे और डूबे लोगों की तलाश शुरु किया। काफी प्रयास के बाद टीम ने पिता जयसिंह उसका पुत्र ओम शर्मा तथा किशोरी सारिका के शव को बरामद कर लिया। शव पर नजर पड़ते ही परिजन दहाड़े मारकर रोने लगे। मौजूद लोग उन्हें सांत्वना देने में जुट रहे।