गाजीपुर-अब हर घर बिजली बनायेगा और बेचेगा

गाजीपुर-आज हमारे मित्र के यहां (onGrid ) 3 किलो वाट का कनेक्शन चालू हुआ,प्रतिदिन 15 से 18 यूनिट विद्युत पैदा होगी,अब मनमाना बिजली का बिल नहीं भरना पड़ेगा, करीब-करीब प्रतिदिन 10 यूनिट बिजली विभाग को निर्यात करेंगे, करीब-करीब महीने में 300 यूनिट बिजली विभाग को बिजली निर्यात करेंगे,बहुत-बहुत बधाई मित्र को गाजीपुर को नई टेक्नोलॉजी देने के लिए, बनारस में मेरे कई मित्रों के घर लगा था, लेकिन गाजीपुर में 1 साल से हम लोग प्रयासरत थे,आज सफलता मिली,अब मैं भी अपने यहां इस प्रकार की व्यवस्था करने वाला हूं,अगर आप भी इच्छुक हो तो जरूर संपर्क करें, काफी नई तकनीक और अच्छी सुविधा, बिजली विभाग की मनमानी से बचेंगे और आप अनायास बिजली के बिलों से बचते रहेंगे,गाजीपुर में यह एक मॉडल के रूप में उपलब्ध है,आप भी विजिट कर सकते हैं और देख सकते हैं,सरकार ने71 कंपनियों को नामित किया है, प्रति किलो वाट ₹38 के हिसाब से, लेकिन इसमें से कोई भी कंपनी₹38 के हिसाब से नहीं लगाती है,भाई साहब के यहां डेढ़ लाख खर्च हुआ है,₹50 प्रति वाट के हिसाब से,इसमें इनको प्रदेश सरकार से रुपया30,000/और केंद्र सरकार से रुपया46,800/ की सब्सिडी मिलेगी, यह सरकार की बहुत ही अच्छी योजना है बशर्ते कंपनी अगर ₹38 में लगाती है तो टोटल 1,14000/ ही लगता, और 76,800/ सब्सिडी के रूप में प्राप्त होगी, सिर्फ हमारे मित्र सिर्फ ₹36,000/ ही लगता, लेकिन ऐसा नहीं हो पाया,हमारे मित्र का 36,000/ और एक्स्ट्रा लग गया,1साल का इंतजार करना आज खत्म हुआ, सरकार इन कंपनियों पर थोड़ी सी नकेल कसती तो ऐसी परिस्थितियां आमजन को नहीं झेलनी पड़ती, मुझे उम्मीद है सरकार जरूर इन कंपनियों के बारे में भी विचार करेगी, जो इस प्रकार की गड़बड़ियां कर रही है, ऐसी कंपनियों को ब्लैक लिस्ट कर देना चाहिए सरकार को,हम दोनों लोगों ने एक साथ प्लानिंग किया,लेकिन कुछ परिस्थितियां ऐसी आई कि मुझे अपने आप को ड्रॉप करना पड़ा, मुझे खुशी इस बात की है की मेरे यहां तो नहीं कम से कम मेरे मित्र के यहां लग गया, बधाई हो मित्र को, इस नई तकनीक से हम लोगों का पर्यावरण भी सुरक्षित रहेगा। ( उमेश श्रीवास्तव के फेसबुक वाल से,विशेष जानकारी हेतू मो०8299421007 पर सम्पर्क करें)

Also Read:  गाजीपुर-प्रधान के वित्तीय व प्रशासनिक अधिकार सीज