गाजीपुर-अवैध वसूली को लेकर दो पत्रकार संगठन के लोग आमने-सामने

गाजीपुर-जमानिया में शकुन टाइम्स के उप संपादक द्वारा अपने ही अख़बार के प्रदेश प्रभारी और पूर्वांचल प्रभारी पर उपसंपादक के नाम पर धमकाकर एक हॉस्पिटल संचालक से घूस मांगने का मामला तूल पकड़ता हुआ नजर आ रहा है. हमारे पास जो सबूत आये हुए हैं उसके अनुसार शकुन टाइम्स का छीछालेदर होता देख संपादक राजकुमार यादव ने अपने प्रदेश प्रभारी और पूर्वांचल प्रभारी को शकुन टाइम्स से निकाल दिया है.

आइये पूरा प्रकरण समझते हैं-

अपने ट्विटर हैंडल को लेकर चर्चित रहने वाले शकुन टाइम्स के उपसंपादक बजरंग बली तिवारी ने 9 जून को अपने ट्विटर हैंडल से जमानिया में अपने छवि को धूमिल करते हुए तथाकथित पत्रकार लिखकर कार्यवाही करने की मांग की साथ ही एक विडियो भी जारी किया.

9 जून को ही शकुन टाइम्स में उपसंपादक रहते हुए बजरंग बली तिवारी ने अपने पद का कहीं भी जिक्र न करते हुए अपने द्वारा बनाये गये संगठन राष्ट्रीय सजग मीडिया संगठन के लैटर हेड पर शकुन टाइम्स के प्रदेश प्रभारी हैदर अली, जफ़र इकबाल के साथ दो अज्ञात पत्रकारों के खिलाफ सीओ जमानिया को शिकायती पत्र दिया और कानूनी कार्यवाही करने की मांग की.

बजरंग बली तिवारी ने अपने लेटर में क्या लिखा पढ़िए अक्षरशः

“सेवा में, क्षेत्राधिकारी महोदय,
जमानिया, गाजीपुर
महोदय, निवेदन है कि प्रार्थी बजरंगबलि तिवारी राष्ट्रीय सजग मीडिया संगठन वाराणसी का राष्ट्रीय अध्यक्ष हूँ। हैदर अली व जफर इकबाल व अन्य दो अज्ञात हम प्रार्थी का नाम लेकर धन उगाही कर रहे है। हैदर अली ग्राम उसिया थाना दिलदानगर तथा जफर इकबाल ग्राम जमानियाँ कस्बा चौधरी मुहल्ला थाना जमानिय जिला गाजीपुर के रहने वाले है। इनके द्वारा कल दिनांक 08/06/2022 को हम प्रार्थी का नाम बताकर दया बिन्द निवासी ग्राम हमीदपुर थाना जमानियाँ जिला गाजीपुर से धन उगाही के आशय से धमकाया गया है। जबकि प्रार्थी कल वाराणसी में था। विपक्षीगण जाल-साज किस्म के व्यक्ति है। इनके द्वारा हम प्रार्थी की छवि को धुमिल करने का प्रयास किया गया है। ऐसी स्थिति में उपरोक्त की जाँच कराकर कानूनी कार्यवाही किया जाना न्यायहित में आवश्यक है।
अतः श्रीमान से निवदेन है कि उपरोक्त की जाँच कराकर विपक्षीगण के ऊपर कानूनी कृपा करे। कार्यवाही करने की कृपा करें.”

गौर तलब हो कि उक्त शिकायती पत्र में शकुन टाइम्स के उप संपादक बजरंग बलि तिवारी ने कहीं भी अपने ही अखबार में काम करने वाले प्रदेश प्रभारी हैदर अली व पूर्वांचल प्रभारी ज़फर इक़बाल का अख़बार से सम्बन्ध जाहिर नहीं किया है.

उसके बाद 11 जून को हैदर अली, ज़फर इकबाल और आजाद सिंह के तरफ से सीओ को ज्ञापन दिया गया. गौरतलब है कि आजाद सिंह भी शकुन टाइम्स के जमानिया तहसील प्रभारी के पद पर थे जिन्हें ज़फर इकबाल और हैदर अली के साथ शकुन टाइम्स से निकाल दिया गया है.

अब जानते हैं ज़फर हैदर अली, ज़फर इक़बाल और आजाद सिंह को निकाला क्यों गया है?

हमें जो जानकारी प्राप्त हुईं हैं उसके अनुसार शकुन टाइम्स का इस प्रकरण में पहली बार हैदर अली, ज़फर इकबाल और आजाद सिंह द्वारा सीओ दिए गये शिकायती पत्र में पहली बार नाम आ गया जिसके बाद शकुन टाइम्स के संपादक राजकुमार यादव को बुरा लग गया. वहीं उप-संपादक, प्रदेश प्रभारी, पूर्वांचल प्रभारी तहसील अध्यक्ष के बीच चल रहे इस खींचतान से अखबार का नाम भी खराब हो रहा था. फिर क्या उन्होंने 12 जून रविवार को अपने इन तीनों पत्रकारों को जाँच पूरी होने तक निकाल दिया है.

लेकिन यह मामला अब सिर्फ शकुन टाइम्स के पत्रकारों के बीच का नहीं रह गया है. यह मामला अब दो पत्रकार संगठनों के आमने-सामने आने का कारण बन गया है. क्योंकि जहाँ बजरंग बलि तिवारी राष्ट्रीय सजग मीडिया संगठन के राष्ट्रीय अध्यक्ष हैं वहीं यूनाइटेड मीडिया पत्रकार एसोसिएशन आज़मगढ़ मंडल के उपाध्यक्ष हैदर अली, जमानिया तहसील अध्यक्ष आजाद सिंह और वाराणसी मंडल के उपाध्यक्ष ज़फ़र इक़बाल हैं.

इस मामले में यूनाइटेड मीडिया पत्रकार एसोसिएशन के संस्थापक उपेन्द्र यादव, प्रदेश महासचिव इंद्रजीत सिंह, चुन्नु यादव, ग़ाज़ीपुर सदर प्रभारी नीरज यादव, सदर ब्लॉक प्रभारी छोटू यादव, रेवतीपुर ब्लॉक अध्यक्ष अकाश शर्मा भी सीओ से मिलकर शिकायती पत्र दिलाने में शामिल रहे. वही एक बात और गौर करने वाली है कि यूनाइटेड मीडिया पत्रकार एसोसिएशन ने अपने ही एक ब्लॉक प्रभारी के खिलाफ शिकायती पत्र दिलाने में सहयोग किया है क्योंकि संदीप गुप्ता जमानिया ब्लॉक प्रभारी हैं.

इस मामले पर जब हमने शकुन टाइम्स के संपादक राजकुमार यादव से बात की तो उन्होंने अपने प्रदेश प्रभारी हैदर अली, पूर्वांचल प्रभारी ज़फर इक़बाल और जमानिया तहसील प्रभारी आजाद सिंह के निकाले जाने की बात को घुमाते हुए खा कि यह हमारा आंतरिक मामला है और इस मामले में आपको सूचना विभाग से जानकारी मिल जाएगी. जमानिया सीओ हितेंद्र कृष्ण ने इस मामले की जाँच होकर कार्यवाही होने की बात कही है.रिपोर्ट-चंदन शर्मा

Play Store से हमारा एप्प डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें Find us on Play Store