गाजीपुर-असगरी खातून ने की छठ पूजा, कौतूहल से देखते रहे लोग

गाजीपुर-सेवराई स्थित परेमन शाह के पोखरे पर छठ पूजा करने के लिए जब एक मुस्लिम महिला पहुंची तो लोगों के आश्चर्य का ठीकाना नहीं रहा। सेवराई के वार्ड संख्या 8 निवासी मैनुद्दीन की पुत्री असगरी खातून ने बताया कि वह छठ व्रत है उसने उगते हुए सूर्य को अर्घ्य दिया।

असगरी की शादी करीब 6 वर्ष पूर्व रामगढ़ बिहार के पैकौली गांव निवासी तसव्वर हवारी के पुत्र वोजीर हवरी के साथ हुई ।शादी के बाद हर मां की तरह असगरी को भी एक पुत्र प्राप्ति की चाहत थी लेकिन दो बेटियों शबनम 4 वर्ष और सिमरन 3 वर्ष के पैदा होने के बाद असगरी की उम्मीद टूटती हुई नजर आई, फिर किसी ने उसे छठ पूजा के महत्व के बारे में बताया।इसके बाद असगरी में जाति धर्म को दरकिनार कर यह संकल्प लिया कि यदि उसे पुत्र की प्राप्ति होगी तो वह पूरे विधि विधान से छठ पूजा करेगी। इसके कुछ ही समय बाद असगरी को पुत्र रत्न की प्राप्ति हुई।अपने लिए संकल्प के अनुसार असगरी ने छठ पूजा का कठिन व्रत करने का फैसला लिया लेकिन कोरोना संक्रमण की वजह से पिछले वर्ष छठ पूजा नहीं हो पाई।इसलिए असगरी ने इस वर्ष पूरे विधि विधान से चार दिनों तक छठ का कठिन व्रत रखकर भगवान सूर्य की उपासना की अन्य महिलाओं की तरह ही उसने भी भगवान सूर्य को अस्ताचलगामी और उदयाचल अर्ध्य दिया। परिवार के लोगों के साथ धूमधाम से असगरी ने आस्था के इस महापर्व को उसने पूरा किया। सौ०अमर उजाला गाजीपुर

Also Read:  गाजीपुर-वह दारू का गैलन लेकर भागा लेकिन पुलिस ने पकड़ लिया