गाजीपुर-अस्ताचल सूर्य को अर्ध्य देते लोग

गाजीपुर-लोक आस्था के महापर्व छठ का तीसरा दिन है। शुक्रवार शाम 5 बजे के बाद से बलियां,गाजीपुर समेत पूरे देश में ढलते सूर्य को अर्घ्य दिया जा रहा है। बड़ी संख्या में श्रद्धालु अपने घरों और सार्वजनिक स्थलों पर ढलते सूर्य को अर्घ्य दे रहे हैं। शुक्रवार शाम 5 बजकर 26 मिनट से दिल्ली-एनसीआर के लाखों श्रद्धालु सूर्य को अर्घ्य दे रहे हैं। हिंदू धर्म से जुड़ी पौराणिक मान्यताओं के मुताबिक, शाम के दौरान सूर्य अपनी पत्नी प्रत्यूषा के साथ रहते हैं। ऐसे में छठ पूजा में शाम के समय सूर्य की अंतिम किरण प्रत्यूषा को अर्घ्य देकर उनकी पूजा-अर्चना की जाती है। ऐसी मान्यता है कि व्रतधारी महिलाओं को इससे दोहरा लाभ मिलता है।इसी कड़ी में शुक्रवार शाम को सूर्य देव को अर्घ्य देकर उनका पूजन जाएगा। पूजा के दौरान प्रसाद औऱ फल टोकरी और सूप में रखे जाते हैं।पूजा की कड़ी में अर्घ्य देने से पहले बांस की टोकरी को फलों, ठेकुआ, चावल के लड्डू और पूजा के सामान से सजाया जाता है। सूर्यास्त से कुछ समय पहले सूर्य देव की पूजा होती है फिर डूबते हुए सूर्य देव को अर्घ्य देकर पांच बार परिक्रमा की जाती है। इसके पूजा पूरी होती है।

Also Read:  गाजीपुर-भुट्टे के झोले में 18 किलो गांजा, तस्कर गिरफ्तार