गाजीपुर-आमरण अनशन पर बैठे बोधा जयसवाल

0
534

गाजीपुर-श्रीमान जिलाधिकारी महोदय जी के यहां प्रार्थना पत्र देने के बाद कोई आश्वासन न मिलने के कारण हम बोधा जयसवाल समाजसेवी को आमरण अनशन पर बैठने को मजबूर होना पड़ा सरजू पार्क गाजीपुर के प्रांगण में भ्रष्टाचार के खिलाफ जब तक हमें न्याय नहीं मिलेगा हम अपने गृह नगर आदर्श गांव देवा नहीं जाऊंगा मरते दम तक यह लड़ाई जारी रहेगी जय हो स्वामी सहजानंद सरस्वती-बोधा जयसवाल कौन है बोधा जयसवाल और क्यों बैठे आमरण अनशन पर- बोधा जयसवाल ग्राम देवां ( दुल्लहपुर) के तहसील व विकास खण्ड जखनियां के निवासी है। यह एक समाजसेवी है और बिगत चार साल से ग्राम सभा मे ग्राम प्रधान जब्बार अंसारी के द्वारा किये गये गये अनियमित के खिलाफ संघर्ष कर रहे है। बाकौल बोधा जयसवाल सौचालय निर्माण, खड़जा निर्माण, आवासीय पट्टा आदि मामलों मे प्रधान द्वारा काफी अनियमित बरती गयी है। बोधा के आरोपों की अधीकारियों द्वारा जाँच किया गया और आरोप की पुष्टि भी हुई । इसके बाद प्रधान से रिकवरी और खाता सीज करने का आदेश भी हुआ लेकिन आदेश के बाद भी न खात सीज हुआ और न ही रिकवरी हुई। बोधा जयसवाल ने हार नहीं माना जाँच रिपोर्ट की नकल के लिए आवेदन देते-देते थक गये जब नकल नहीं मिला तो मामला हाईकोर्ट लेकर गये, हाईकोर्ट के आदेश के बाद भी नकल नहीं मिलने पर मामला हाईकोर्ट मे कंटेम्प्ट मे गया। कोर्ट आँफ कंटेम्ट दाखिल करने पर बोधा को जाँच रिपोर्ट की नकल मिली। बोधा ने आत्मदाह की घोषणा भी किया था लेकिन अधीकारियों द्वारा न्याय मिलने के आश्वासन पर अपना आत्मदाह खत्म किया। आज 9 नवंबर को जिलाधिकारी ने मिलने व मामले की जानकारी के लिए बुलाया था। बोधा को आज जिलाधिकारी द्वारा कोई सकारात्मक उत्तर नहीं मिलने पर उन्होंने आमरण अनशन की घोषणा करते हुए सरजू पान्डेय पार्क मे बैठ गये।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here