गाजीपुर-आशा, एएनएम घर-घर जाकर पिलायेंगी विटमिन ‘ए’की खुराक

गाजीपुर। बच्चों को कुपोषण के साथ ही साथ कई अन्य बीमारियों से बचाने के लिए बाल स्वास्थ्य पोषण माह का शुभारंभ नगर पालिका अध्यक्ष सरिता अग्रवाल ने नगरीय प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र हाथीखाना पर किया। इस दौरान उन्होने नौ माह से पाँच वर्ष तक के बच्चों को विटामिन ए की खुराक पिलाई। यह अभियान 21 जनवरी 2022 तक चलाया जाएगा।
     

अपने सम्बोधन में सरिता अग्रवाल ने कहा कि बच्चे देश के भविष्य हैं, इनकी बेहतर देखभाल करना हम सबकी जिम्मेदारी है। इसलिए बच्चों के स्वास्थ्य व पोषण पर विशेष ध्यान देना चाहिए। इस अभियान में सभी नौ माह से पाँच वर्ष तक बच्चों को विटामिन ए की खुराक जरूर पिलाएँ जिससे उन्हें कमजोरी और कुपोषण से बचाया जा सके। ?
   

Also Read:  लखनऊ-कैसा रहेगा पुर्वांचल का मौसम

प्रभारी मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ के के वर्मा ने बताया कि संभावित कोविड-19 की तीसरी लहर का खतरा होने के कारण अब स्वास्थ्य विभाग बच्चों की प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में जुट गया है। बुधवार से जनपद के सभी सरकारी अस्पतालों में बाल पोषण माह का शुभारंभ किया गया। गुरुवार से एएनएम व आशा घर-घर जाकर बच्चों को विटामिन-ए की खुराक पिलाएंगी और विभिन्न बीमारियों के टीके भी लगाएंगी।
      

Also Read:  आजमगढ मे हुई मौत से , गाजीपुर का प्रशासन चेता

जिला प्रतिरक्षण अधिकारी डॉ उमेश कुमार ने बताया कि जनपद में नौ माह से 12 माह तक के बच्चों की संख्या 27,311, डेढ़ साल से दो साल तक के 1.17 लाख और दो साल से पाँच साल तक के बच्चों की संख्या 3.22 लाख है। उन्होंने बताया कि विटामिन ए की खुराक बच्चों को पिलाने से उनकी रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ेगी। उन्होंने अभिभावकों से अपील की है कि जिनके बच्चे विटामिन ए की खुराक अब तक नहीं पिए हैं, उन्हें इस बार किसी भी हालत में विटामिन ए की खुराक अवश्य पिलाएं।
    

Also Read:  सामाजिक कार्यों में सदैव अग्रणी वेलफेयर क्लब का स्वच्छता अभियान

इस मौके पर जिला प्रतिरक्षण अधिकारी डॉ उमेश कुमार, एसीएमओ डॉ डी पी सिंहा, डीपीएम प्रभु नाथ, चिकित्सा अधिकारी डॉ इशानी वर्धन,वरिष्ठ लिपिक अमित राय, सीडीपीओ सदर के साथ ही अन्य लोग मौजूद रहे।