गाजीपुर-इलेक्ट्रिसिटी बिल के विरोध में विद्युत कर्मचारी

गाजीपुर-विद्युत कर्मचारी संयुक्त संघर्ष समिति के तत्वावधान में सोमवार इलेक्ट्रिसिटी  (अमेंडमेंट)  बिल 2021 के विरोध में जिलेभर में बिजली कर्मियों ने विरोध सभा की। शाम 4 बजे से 6 बजे तक चले विरोध प्रदर्शन को सम्बोधित करते हुए संघर्ष समिति के जिला संयोजक निर्भय नारायण सिंह ने केंद्र सरकार से मांग करते हुए कहा कि बिजली कानून में व्यापक बदलाव वाले इस बिल को जल्दबाजी में पारित करने के बजाय इसे संसद की बिजली मामलों की स्टैंडिंग कमेटी को भेजा जाना चाहिए। और कमेटी के सामने बिजली उपभोक्ताओं और बिजली कर्मियों को अपने विचार रखने का पूरा अवसर दिया जाना चाहिए।  

उन्होंने कहा कि इलेक्ट्रिसिटी एक्ट 2003 में उत्पादन का लाइसेंस समाप्त कर बड़े पैमाने पर बिजली समाप्तकर बड़े पैमाने पर बिजली उत्पादन का निजीकरण किया गया, जिसके परिणाम स्वरुप देश की जनता को निजी घरानों से बहुत महंगी बिजली की मार झेलनी पड़ रही है। अब इलेक्ट्रिसिटी (अमेंडमेंट) बिल 2021 के जरिए बिजली वितरण लाइसेंस लेने की शर्त समाप्त की जा रही है, जिससे बिजली वितरण के सम्पूर्ण निजीकरण का मार्ग प्रशस्त हो जाएगा। इस बिल में प्राविधान है कि किसी भी क्षेत्र में एक से अधिक बिजली कंपनियां बिना लाइसेंस लिए कार्य सकेंगी और बिजली वितरण के लिए यह निजी कंपनियां सरकारी वितरण कंपनी का इंफ्रास्ट्रक्चर और नेटर्वक इस्तेमाल करेगी।

जिला सह संयोजक इंजीनियर शिवम राय ने कहा कि निजी कम्पनियां केवल मुनाफे वाले औद्योगिक और वाणिज्यिक उपभोक्ताओं को ही बिजली देंगी, जिससे सरकारी बिजली कंपनी की वित्तीय हालत और खराब हो जाएगी। इस प्रकार नए बिल के जरिए सरकार बिजली वितरण का सम्पूर्ण निजीकरण करने जा रही है, जो किसानों और गरीब घरेलू उपभोक्ताओं के हित में नहीं है। उन्होंने बताया कि इस बिल के विरोध में 27 जुलाई को इस बिल के विरोध में नेशनल कोआर्डिनेशन कमेटी आफ इलेक्ट्रिसीटी इम्पलाइस एंड इंजीनियर्स (एनसीसीओईई) के राष्ट्रीय पदाधिकारी केंद्रीय मंत्री आरके सिंह से दिल्ली में मिलकर उन्हें ज्ञापन देंगे।

इसके बाद बाद भी अगर हम लोगों की मांग पूरी नहीं हुई तो 10 अगस्त को राष्ट्रव्यापी हड़ताल की जाएगी। कहा कि यदि केंद्र सरकार ने 10 अगस्त से पहले संसद में बिल रखा तो देशभर के बिजली कर्मी उसी दिन हड़ताल पर चले जाएंगे। विरोध सभा मे मुख्य रूप से इंजीनियर आदित्य पांडेय,महेंद्र मिश्रा,मनीष कुमार,आशीष चौहान, अभिषेक राय, विजय यादव, मिठाईलाल, अमित कुमार, सत्यनारायण चौरसिया, शिवशंकर कुमार, अविनाश सिंह, तपस कुमार, नीरज सोनी, शशिकांत पटेल, मिथिलेश यादव, रोहित कुमार, रमेश कुमार, पंकज जायसवाल, विद्युत मजदूर पंचायत के जिलाध्यक्ष अरविंद कुशवाहा, जिला मंत्री विजयशंकर राय, अनुराग सिंह, कपिल गुप्ता, पीताम्बर कुशवाहा, शशिकांत मौर्य, प्रवीण सिंह, अश्विनी सिंह, जेपी कुशवाहा एवं समस्त मीटर रीडर व संविदा कर्मी उपस्थित रहे।