गाजीपुर-उसकी मौत का जिम्मेदार परिजनों का अंधविश्वास

गाजीपुर-सदर कोतवाली थानाक्षेत्र के लालनपुर मड़ई में अधेड़ महिला को सांप ने डंस लिया। जिसके बाद परिजन उसे लेकर झाड़फूंक के चक्कर में जैतपुरा ले गए, वहां राहत न होने पर वो उसे लेकर बेलासी मिशनरी अस्पताल लाए, जहां प्राथमिक उपचार के बाद उसे जिला अस्पताल भेज दिया गया, लेकिन वहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। जिसके बाद परिजनों में कोहराम मच गया।

गांव निवासिनी भागीरथी देवी आयु 52 वर्ष पत्नी छविनाथ यादव मंगलवार की सुबह कमरे में रखे बक्से से रूपया निकालने गई थी। इस बीच वहां मौजूद सांप पर उसका पैर पड़ जाने से सांप ने उसके बाएं पैर की पिंडली में डंस लिया। जिसके बाद महिला वहां झुककर देखने लगी। इधर वहां से काले सांप को जाते देखा तो डर के मारे चीखकर बेहोश हो गई। चीख सुनकर परिजन उसे जिला अस्पताल न ले जाकर झाड़ फूंक कराने जैतपुरा गांव ले गए। वहां उसकी हालत बिगड़ने पर उसे बेलासी स्थित मिशनरी अस्पताल ले जाया गया। जहां एंटी वेनम इंजेक्शन लगाकर जिला अस्पताल भेज दिया गया। लेकिन उसके पूर्व ही उसकी मौत हो चुकी थी। घटना के बाद पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम को भेजा और शाम को परिजनों को सौंप दिया। परिजनों में कोहराम मचा हुआ है।