गाजीपुर-एंबुलेंस में हुआ प्रसव ,जच्चा-बच्च सकुशल

गाजीपुर-108 एंबुलेंस जब 2012 में सरकार के द्वारा चलाया गया तब विभाग ने कभी भी नहीं सोचा था की एंबुलेंस इतनी लोकप्रियता हासिल कर लेगी। सबसे बड़ी चीज की एंबुलेंस के अंदर तैनात पायलट और ईएमटी इमरजेंसी में एंबुलेंस के अंदर प्रसव भी करा सकते हैं। लेकिन ऐसा दिख रहा है । इसी तरह का एक मामला सैदपुर भीतरी के मोहदीनपुर मनसुखवा गांव से आशा कार्यकर्ता सरोज के द्वारा 108 एंबुलेंस के लिए कॉल किया गया। बताया गया कि गर्भवती का प्रसव होना है और उसका प्रसव पीड़ा लगातार बढ़ता जा रहा है।

108 एंबुलेंस के ब्लॉक प्रभारी मो0 फरीद ने बताया कि आशा कार्यकर्ता ने फोन करके बताया कि सावित्री पत्नी धर्मेंद्र को प्रसव पीड़ा हो रहा है। जिसकी जानकारी के बाद पायलट संतोष प्रजापति और ईएमटी सुनील कुमार यादव तत्काल बताए गए लोकेशन पर पहुंचे। और गर्भवती को तत्काल एंबुलेंस में बिठाकर स्वास्थ्य केंद्र देवकली के लिए रवाना हुए। लेकिन कुछ ही देरी बाद रास्ते में चलते समय उसका प्रसव पीड़ा ज्यादा बढ़ गया जिसके चलते पायलट ने एंबुलेंस को सड़क के किनारे लगाया। और फिर ईएमटी सुनील कुमार यादव और आशा कार्यकर्ता सरोज के सहयोग से एंबुलेंस के अंदर ही गर्भवती का सुरक्षित प्रसव कराया गया। प्रसव के पश्चात जच्चा और बच्चा को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र देवकली पर एडमिट कराया गया जहां पर डॉक्टरों ने जच्चा और बच्चा को सुरक्षित बताया।