गाजीपुर-ऐय्याश माँ का आशिक बेटी से करता था छेडख़ानी, अब गया जेल

गाजीपुर-माँ एक ऐसा शब्द जिसके आगे सभी देवी-देवताओं के प्रति हमारी आस्था फीकी पड़ जाती है।यदि वही माँ अपने नाबालिग बेटी से छेडखानी के लिए अपने आशिक को प्रोत्साहित करे और नाबालिग बेटी द्वारा बिरोध करने पर माँ और उसका आशिक नाबालिग बेटी को मारपीट कर प्रताड़ित करें और उसे अकेला कमरे मे कैद कर दें,निश्चित तौर पर ऐसी माँ और उसके आशिक के प्रति आप का मन घृणा से भर उठेगा।ऐसा ही एक मामला मे विशेष न्यायाधीश पाक्सो प्रथम विष्णुचंद्र वैश्य की अदालत ने शुक्रवार को नाबालिग से छेड़छाड़ के मामले में मां सहित दो को सजा सुनाई है। एक आरोपी को चार साल की कैद एवं 10 हजार रुपये के अर्थदंड से दंडित किया है। वहीं पीड़िता की मां को भी दो साल की सजा देते हुए पांच हजार रुपये का अर्थदंड लगाया है। हालांकि मां को अपील अवधि तक जमानत पर रिहा कर दिया है।
मुहम्मदाबाद थाना क्षेत्र के एक गांव निवासी पीड़िता ने थाने में 25 अगस्त 2014 को तहरीर दी थी कि उसकी मां और उसकी मां के साथ अवैध संबंध रखने वाले शाहिद उर्फ भोलन ने उसे मारपीट कर घर में बंद कर दिया था। वजह भोलन के छेड़छाड़ का वह विरोध कर रही थी। उसकी तहरीर पर मुहम्मदाबाद थाना में मुकदमा दर्ज हुआ और विवेचना उपरांत पुलिस ने दोनों आरोपियों के विरुद्ध न्यायालय में आरोपपत्र प्रेषित किया। अभियोजन पक्ष एवं बचाव पक्ष की बहस को सुनने के बाद न्यायालय ने आरोपी शहीद उर्फ भोलन को चार साल की कड़ी कैद और दस हजार रुपये का अर्थदंड लागते हुए जेल भेज दिया। वहीं पीड़िता की मां को दोषी पाते हुए दो साल की सजा और पांच हजार रुपये के अर्थदंड की सजा सुनाई और उसे अपील की अवधि तक जमानत पर रिहा कर दिया।

Also Read:  गाजीपुर- इस गाँव में फैला चेचक का प्रकोप-गाजीपुर टुड़े