गाजीपुर-और सभी के लटक गये मुंह

गाजीपुर-वर्षों से मानदेय बृद्धि की मांग को लेकर लखनऊ में कई बार पुलिस की लाठियां खा चुकी आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं और सहायिकाओं को 3 जनवरी 2022 को उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी के मानदेय वृद्धि की घोषणा की जानकारी मिलने पर काफी उत्साहित थी। निदेशालय के निर्देश पर विभिन्न परियोजनाओं पर तैनात सीडीपीओ ने टीवी स्क्रीन की व्यवस्था की और आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं व सहायिकाओं को बुलाकर योगी जी के वर्चुअल संबोधन /मीटिंग को सुनाने की व्यवस्था कर रखा था।मानदेय बृद्धि की घोषणा सुनने को उत्साहित आंगनवाड़ी कार्यकर्ता व सहायिका 3 जनवरी की सुबह 10 बजे ही सदर तहसील,सैदपुर, मुहम्मदाबाद, जमानियां व जखनियां स्थित बाल विकास परियोजनाओं पर डंट गयी।उनको लगा कि उत्तर प्रदेश की सरकार आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं के 5500/ सौ प्रति माह के मानदेय हो कम से कम 10 हजार तो कर ही देगी लेकिन जब आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं ने मात्र 500 रूपये मानदेय में वृद्धि की बात सुनी तो सभी उत्साह से पंहुची आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं व सहायिकाओं के मुंह लटक गए। कार्यक्रम की समाप्ति के बाद आपस में बात करते हुए आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं ने आक्रोश व्यक्त किया।इस संदर्भ में एक आंगनवाड़ी कार्यकर्ती ने नाम न छापने की शर्त पर बताया कि सरकार ने बढ़ाया भी तो मात्र 500 रूपये, क्या सरकार ने हमें भीख दिया। एक दूसरी आंगनबाड़ी कार्यकर्ती ने कहा कि स्वास्थ्य विभाग का काम ,निर्वाचन विभाग का काम,मलेरिया विभाग का काम, नगर पंचायत और नगरपालिका का काम ,जनगणना, बाल गणना, पशु गणना हम करें और बृद्धि सिर्फ 5 सौ रूपये ।

Also Read:  गाजीपुर-भारत मे पहली बार महिलाओं को इतना सम्मान मिला है-सुनीता सिंह