गाजीपुर-करण्डा के चर्चित हत्याकांड मे एक को आजीवन कारावास,एक बरी

गाजीपुर-अपर सत्र न्यायाधीश फास्ट ट्रैक कोर्ट द्वितीय दुर्गेश की अदालत ने बुधवार को करण्डा थानाक्षेत्र के बहुचर्चित अखिलेश कुमार दुबे पुत्र अमरनाथ दुबे हत्या कांड के अभियुक्त विशाल यादव को आजीवन कारावास की सजा के साथ 5 लाख रुपये के अर्थदंड से दण्डित किया। साथ ही अर्थदंड की धनराशि से 4 लाख रुपया मृतक के माता को देने का आदेश दिया। अभियोजन के अनुसार करण्डा थाना के गांव करण्डा के अमरनाथ दुबे ने थाना करण्डा में तहरीर दिया कि 15 जनवरी 2008 की शाम 6 बजे उनका लड़का अखिलेश कुमार दुबे घर से शौच के लिए मशीन पर गया था। शौच करके बहुत देर बाद भी जब वह घर नही लौटा तो देर रात तक उसे इधर उधर ढूढने लगा लेकिन वह नही मिला। दूसरे दिन सुबह गांव के ही खेत मे उसके पुत्र की लाश मिली। उसका लड़का विशाल यादव का अच्छा मित्र था। दोनो साथ साथ रहते थे। वादी के तहरीर पर थाना में मुकदमा दर्ज हुआ। पुलिस विवेचना के दौरान बट्टन उर्फ रणविजय सिंह का नाम प्रकाश में आया। दोनो आरोपियो के विरुद्ध पुलिस ने न्यायालय में आरोप पत्र प्रेषित किया। दौरान विचारण अभियोजन की तरफ से सहायक शासकीय अधिवक्ता अखिलेश सिंह ने कुल 6 गवाहों को पेश किया। सभी ने अपना अपना बयान न्यायालय में दर्ज कराया। दोनो तरफ की बहस सुनने के बाद न्यायालय ने बट्टन उर्फ रणविजय सिंह को संदेह का लाभ देते हुए दोषमुक्त कर दिया। वही विशाल यादव को दोषी पाते हुए उपरोक्त सजा सुनाई।

Also Read:  गाजीपुर-कूड़ा कचरा निस्तारण हेतू एसएलआरएम प्लान लागू