गाजीपुर-कांग्रेस के जलूस को पुलिस ने बलपूर्वक रोका

गाज़ीपुर। 10 अगस्त, गाज़ीपुर सदर विधानसभा में भाजपा गद्दी छोड़ो मार्च निकालते समय पुलिस ने कांग्रेसजनों को बलपूर्वक रोका, बावजूद उसके प्रदर्शन मार्च अपने नियत रुट से लंका पहुच ही था कि भारी संख्या में भाजपा सरकार के निर्देश पर स्थानीय कोतवाली पुलिस ने बलपूर्वक रोकने का प्रयास किया लेकिन कांग्रेसियों ने जी जान लगाकर प्रदर्शन किया और सरकार विरोधी नारे लगाए।

प्रदेश कांग्रेस कमेटी के आह्वान पर आज दूसरे दिन भी जिला कांग्रेस कमेटी की अगुवाई में अगस्त क्रांति यात्रा के तर्ज़ पर तीन विधानसभाओ क्रमशः सदर, ज़मानियाँ, और सैदपुर में कांग्रेस कार्यकर्ताओ और स्थानीय पदाधिकारियों ने गांधीवादी तरीके से कोविड प्रोटोकाल के तहत पदयात्रा निकाल कर “भाजपा सरकार गद्दी छोड़ो” का नारा बुलंद कर जन जागरण अभियान चलाया। जिसे सदर विधानसभा में पुलिस ने बलपूर्वक रोकने का प्रयास किया। वर्तमान भाजपा सरकार में व्याप्त भ्रष्टाचार, महंगाई, बेरोजगारी तथा महिलाओं की सुरक्षा को लेकर काँग्रेस प्रदेश सचिव और गाज़ीपुर कांग्रेस पार्टी के प्रभारी और युवा नेता राहुल राजभर और जिलाध्यक्ष सुनील राम की अध्यक्षता में प्रदर्शन किया गया और सरकार विरोधी नारे लगाए गए। सदर विधानसभा में कोंग्रेसजनो ने सिटी रेलवे स्टेशन कार्यालय से सरजू पांडेय पार्क तक गांधीवादी तरीके से मार्च निकालेने के लिए बढ़े और सरकार की जनविरोधी नीतियों के खिलाफ नारे बाजी की, लेकिन पुलिस ने जबरदस्ती करते हुए मार्च रोकने का प्रयास किया।

प्रदर्शन के दौरान गाज़ीपुर कांग्रेस प्रभारी राहुल राजभर जी ने बताया कि सन 1942 में इसी अगस्त क्रांति के दौरान महात्मा गांधी ने अंग्रेजों के जुल्मों सितम के खिलाफ भारत छोड़ो का नारा बुलंद किया था, हमारी नेता बहन प्रियंका जी और लोकप्रिय प्रदेश अध्यक्ष लल्लू जी के आह्वान पर जो सरकार निकम्मी है वो सरकार बदलनी है के नारे के साथ भाजपा सरकार गद्दी छोड़ो का भी नारा हम लोगों ने बुलंद किया है और आने वाले विधानसभा में यूपी से भाजपा सरकार को उखाड़ फेंकना है। उन्होंने कहा पुलिस चाहे जितनी ज्यादती कर ले हम अपनी बात कहेंगे।

पुलिस विरोध का सामना करते हुए कांग्रेस जिलाध्यक्ष सुनील राम ने शहीदों और स्वतंत्रता सेनानियों को नमन करते हुए कहा कि आज देश में किसान परेशान हैं, छोटे छोटे व्यापारी और मध्यमवर्गीय लोग परेशान हैं, महंगाई, बेरोजगारी, भ्रष्टाचार और अपराध पर ये सरकार पूरी तरह से मौन है, और घमंड में चूर इस सरकार को हटाना है। इसलिए इस निकम्मी और घमंडी सरकार को बदलना है और हम सब कॉंग्रेस कार्यकर्ताओ ने अपने पूर्वजों और स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों को नमन करके ये प्रण लिया है कि भाजपा को गद्दी से हटाकर ही दम लेंगे।

लंका पर पुलिस द्वारा रोकने के बावजूद शहीदों को नमन करके प्रदर्शन करने वालों में प्रमुख रूप से एआईसीसी सदस्य और पूर्व विधायक अमिताभ अनिल दुबे ने कहा कि लोकतंत्र में हमें अपनी बात कहने का पूरा अधिकार है और जो सरकार आम जनता को मूल भूत आवश्यकता और सुरक्षा भी दे सके उसे गद्दी पर बैठने कोई हक नहीं है, इसलिए हम नारा देते हैं कि भाजपा तुम गद्दी छोड़ो। उन्होंने कहा कि भारतीय जनता पार्टी ने जो कहा था उसे पूरा नहीं की और जाति, धर्म सम्प्रदाय और क्षेत्रवाद की राजनीति कर समाज को बाँटने का काम कर रही है और महंगाई बेरोजगारी जैसे मुद्दों से लोगो का ध्यान भटक रही है, इसे सरकार में रहने का कोई हक नहीं। शहर अध्यक्ष सुनील साहू ने कहा कि पुलिस के बल पर लोकतांत्रिक तरीके से विपक्ष को अपनी बात भी कहने नहीं दिया जा रहा है।

तीनो विधानसभाओं में प्रदर्शन के दौरान कोंग्रेसजन ने स्वतंत्रता सेनानियों को नमन करते हुए प्रदर्शन किया, वरिष्ठ कांग्रेसी मार्कण्डेय सिंह ने कहा कि कांग्रेस को लाएंगे, फिर अच्छे दिन आएंगे का हम सबने संकल्प लिया है और आगामी विधानसभा चुनावों में भाजपा को हटाकर कांग्रेस की सरकार उत्तर प्रदेश में लाएंगे।

इस अवसर पर प्रदर्शन में मुख्य रूप से जिला अध्यक्ष सुनील राम, गाजीपुर प्रभारी राहुल राजभर, पूर्व प्रदेश सचिव श्री रवि कांत राय, सफीक अहमद ,लाल साहब यादव ,मंसूर जैदी, राजीव सिंह, अजय कुमार श्रीवास्तव, चंद्रिका सिंह, राजेश गुप्ता, कुसुम तिवारी, हरिवंश चौहान, अखिलेश्वर प्रसाद सिंह,सतीश उपाध्याय,राम नगीना पांडे राम प्रकाश बिंद जितेंद्र बिंद प्रदीप निषाद विद्याधर पांडे ,उषा चतुर्वेदी, महबूब निशा, अंशु पांडे आशुतोष गुप्ता, रूद्रेश निगम, रोहित खरवार, सीमा विश्वकर्मा, शबीहुल हसन ,आदिल, शैलेंद्र सिंह, राकेश राय, अखिलेश राय, संजय राय ,मिलिंद सिंह, राम नगीना पांडे ,अभय गुप्ता, अछैवर बिन्द, डॉक्टर सुमेर कुशवाहा, संदीप विश्वकर्मा, अनुराग पांडे,ज्यूत यादव सतीश श्रीवास्तव सफीउल्लाह रहमती, राशिद भाई, शमीउल्लाह ,अवधेश भारती,शेरखान, विभूति राम मुसाफिर बिंद शेषनाथ दुबे ओम प्रकाश पासवान ओम प्रकाश भारद्वाज गायत्री देवी शशिकांत शीला देवी बागेश्वर देवी नंदलाल राम आदि सैकड़ों की संख्या में कांग्रेस के कार्यकर्ता मौजूद थे ।