गाजीपुर-कायस्थ समाज का हित सपा मे है-एमएलसी आशुतोष

गाजीपुर-आज दिनांक 18 जुलाई को कायस्थ समाज की बैठक शास्त्री नगर स्थित आलोक कुमार श्रीवास्तव जी के आवास पर आयोजित हुई ‌। इस बैठक को संबोधित करते हुए विधान परिषद सदस्य मा.आशुतोष सिन्हा ने कहा का कायस्थ समाज का हित समाजवादी पार्टी में निहित है । उन्होंने कहा कि जब जब प्रदेश में समाजवादी पार्टी की सरकार बनी है कायस्थ समाज के सम्मान में तमाम फैसले लिए गए हैं । उन्होंने कहा कि भगवान श्री चित्रगुप्त पूजनोत्सव पर सार्वजनिक अवकाश करने की घोषणा मा.मुलायम सिंह जी ने अपने मुख्यमंत्रित्व काल में की थी,इतना ही नहीं उन्होंने ही दारूलशफा में कायस्थ महासभा के कार्यालय के लिए कमरा और उसकी देखरेख के लिए 5लाख रूपया भी देने का काम किया था । मा.अखिलेश जी ने भी अपने मुख्यमंत्रित्व काल में लोकनायक जयप्रकाश नारायण अन्तर्राष्ट्रीय ‌समाजवादी अध्य्यन केन्द्र खोलकर हमारे महापुरुषों का सम्मान बढ़ाने का काम किया । उन्होंने रीबू श्रीवास्तव को राज्यमंत्री और आलोक रंजन जी प्रमुख सचिव उत्तर प्रदेश सरकार बनाकर भी कायस्थ समाज को सम्मान देने का काम किया । इसके इतर भारतीय जनता पार्टी जिसका कायस्थ समाज परम्परागत मतदाता माना जाता है,उस कायस्थ समाज को भाजपा लगातार अपमानित करने का काम कर रही है । उन्होंने कहा केन्द्रीय मंत्रिमंडल से रविशंकर प्रसाद जी को हटाया जाना दुर्भाग्यपूर्ण और अपमानजनक है । उन्होंने कहा कि भाजपा ने उत्तर प्रदेश में न लोकसभा में,न मेयर के चुनाव में न विधान परिषद और न ही राज्य सभा‌ का एक भी टिकट कायस्थ समाज को नहीं दिया जबकि समाजवादी पार्टी ने हम जैसे छोटे कार्यकर्ता को विधान परिषद में भेजकर कायस्थ समाज का सम्मान बढ़ाने का काम किया । कायस्थ समाज अपने को पूरी तरह से ठगा महसूस कर रहा है । उन्होंने कायस्थ समाज से समाजवादी पार्टी से बड़ी संख्या में जुड़ने की अपील किया । उन्होंने कहा कि वक्त आने पर समाजवादी पार्टी कायस्थ समाज को संगठन और सरकार में सम्मानित हिस्सेदारी देने का काम करेगी ।
इस बैठक में मुख्य रूप से अरुण कुमार श्रीवास्तव, अजय कुमार श्रीवास्तव, अतुल श्रीवास्तव,संजय श्रीवास्तव ,आनंद श्रीवास्तव ,कक्कू श्रीवास्तव ,पंकज श्रीवास्तव ,संजीव श्रीवास्तव , प्रकाश चन्द्र,केशव श्रीवास्तव,जोगी,जेपी, अरुण श्रीवास्तव चुन्नू नन्हें ,रामध्यान,आदि उपस्थित थे । बैठक की अध्यक्षता आलोक श्रीवास्तव एवं संचालन पप्पू लाल श्रीवास्तव ने किया ।