गाजीपुर-काशी फिल्म महोत्सव से कलाकारों की किस्मत करवट लेगी

गाजीपुर-जनपद के लोक कलाकार वाराणसी में आयोजित तीन दिवसीय पहली काशी फिल्म महोत्सव से बहुत आशान्वित है। सूफी गायक संतोष मधुर कहते है कि वाराणसी के इंटरनेशनल कोऑपरेशन एंड कन्वेंशन सेंटर में काशी फिल्म महोत्सव हम जैसे स्थानीय कलाकारों को एक बड़ा मंच देने का कार्य करेगा। लहुरी काशी की धरती पर आदिकाल से ही अनेकों कहानीकार, पटकथा लेखक, गायक, गीतकार, संगीतकार, वाद्य फनकार और अभिनय के अनमोल सितारे पैदा हुए है। आज के नए कलाकारों को सशक्त और समर्थ मंच देने के लिए काशी फिल्म महोत्सव सक्षम भूमिका निभाएगा। भोजपुरी गायक विनोद सौरभ और अभय करन कहते है कि उत्तर भारत के धार्मिक और सांस्कृतिक केन्द्र के रूप में पहचानी जानी वाली काशी नगरी में पहली बार होने वाला काशी फिल्म महोत्सव दुनिया में अपनी पहचान बनाने के साथ काशी के कलाकारों को वैश्विक उचाई प्रदान करेगा। रंगकर्मी प्रकाश दीक्षित और अरविंद गुप्ता कहते है कि इस आयोजन से हिन्दुस्तानी शास्त्रीय संगीत और नृत्य के दर्शन होंगे ही साथ में यहां देश के विख्यात दार्शनिक कवि, लेखक, संगीतज्ञों के साथ बनारस घराने की स्मृतियां भी ताजा होंगी। यूपी में फिल्म विकास पर सार्थक परिचर्चा निश्चित रूप से प्रदेश में फिल्मों का नया स्वप्निल रंगीन दुनिया अपने अनोखे अंदाज के करवट बदलेगा।