गाजीपुर-केन्द्र सरकार के नीतियों के खिलाफ कार्य बहिष्कार

0
140

गाजीपुर-निजीकरण के विरोध में बुधवार को विद्युत कर्मियों ने जिला संयोजक निर्भय नारायण सिंह के नेतृत्व में लाल दरवाजा पावर हाउस परिसर में एक दिवसीय सांकेतिक कार्य बहिष्कार करते हुए धरना प्रदर्शन किया। इस मौके पर जिला संयोजक निर्भय सिंह ने कहा कि सभी संविदा कर्मियों एवं निविदा कर्मियों को तेलंगाना राज्य की तरह विभाग में नियमित किया जाए। उन्होंने आगे कहा कि केंद्र सरकार की नीति के विरोध में तथा बिजली विभाग की अन्य समस्याओं के समाधान के लिए देश के 15 लाख बिजली कर्मचारियों ने आज सांकेतिक कार्य बहिष्कार किया। जिसमे उत्तर प्रदेश के बिजली कर्मचारी मुख्य भूमिका निभाए। उन्होंने अपनी बात को आगे बढ़ाते हुए कहा कि विद्युत कर्मचारी संयुक्त संघर्ष समिति ने केंद्र सरकार के निजीकरण की नीतियों के विरोध एवं बिजली कर्मियों की ज्वलंत समस्याओं के समाधान के लिए इस सांकेतिक कार्य बहिष्कार में न केवल शामिल होने का निश्चय किया है बल्कि इस एक दिवसीय सांकेतिक कार्य बहिष्कार का नोटिस केंद्रीय ऊर्जा मंत्री और प्रदेश सरकार को भी दे दिया है।बिजली के निजीकरण का प्रयोग उड़ीसा, ग्रेटर नोएडा और आगरा में बुरी तरह विफल होने के बावजूद केंद्र सरकार ने बिजली के निजीकरण की दिशा में आगे बढ रही है।केंद्र सरकार के निर्देश पर केंद्र शासित प्रदेश चंडीगढ़ पांडिचेरी में बिजली के निजीकरण की प्रक्रिया चल रही है जिसे लेकर देश भर में असंतोष है। सहसंयोजक इंजीनियर संतोष मौर्या ने कहा कि सरकार की हठधर्मिता के विरोध में प्रदेश के सभी ऊर्जा निगम के बिजली कर्मचारी, जूनियर इंजीनियर और अभियंताओं ने आज 3 फरवरी को देश के 15 लाख बिजली कर्मचारियों के साथ एक दिवसीय सांकेतिक कार्य बहिष्कार किया जो सफल रहा।इस अवसर पर अधिशासी अभियंता प्रथम ,अधिशासी अधिकारी द्वितीय, तृतीय मनोज कुमार, सहायक अभियंता शिवम राय, अमित कुमार, शिवशंकर, मिठाई लाल ,अभिषेक राय ,सत्य नारायण चौरसिया अवर अभियंता अविनाश सिंह ,तपस कुमार ,रोहित कुमार, नीरज सोनी, पंकज जयसवाल, इंद्रजीत पटेल अजय कुमार सिंह, मजदूर संघ के जिलाध्यक्ष सुरेश सिंह ,विजय शंकर राय, सुदर्शन सिंह, कपिल गुप्ता, प्रवीण सिंह, जितेंद्र सिंह कुशवाहा, विनय तिवारी, शशिकांत भारतीय, शिव शंकर कश्यप एवं समस्त मीटर रीडर तथा संविदा कर्मी मौजूद रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here