गाजीपुर-कैश के साथ लाखों के गहने चोरी, बना चर्चा का बिषय

गाजीपुर-चोरों को अब जनपद की पुलिस का जरा खौफ नहीं रह गया है। बीती रात उन्होंने जिलाधिकारी आवास परिसर से सटे एक बंद मकान को खंगाल डाला। इस दौरान हजारों की नगदी सहित लाखों का जेवरात व लैपटॉप और अन्य कीमती सामान उठा ले गए। पीड़ित ने चोरी की तहरीर कोतवाली पुलिस मे दी। पुलिस मामले की छानबीन में जुट गई है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार सदर कोतवाली क्षेत्र के पीरनगर में मनीषचंद्र शर्मा बंटी मकान बनवाकर परिवार के साथ रहते है। उनकी पत्नी सरोज शर्मा 28 दिसंबर को मकान में ताला बंद कर अपने दो बच्चों के साथ सास विद्या देवी का उपचार कराने के लिए वाराणसी चली गई। जब वह बुधवार को लौटी और मकान के मेन गेट का ताला खोलकर अंदर गई तो अन्दर देखा कि ड्राइंग रूम का ताला टूटा है। यह देख उनके होश उड़ गए। वह आनन-फानन में अन्य कमरों की तरफ गई तो देखा उनका भी ताला टूटा था।

आलमारियों का लाकर टूटा था। उसमें रखा 40 हजार नकदी सहित सोने-चांदी के सारे जेवरात गायब थे। चोरी की जानकारी होते ही पास-पड़ोस के लोगों के साथ ही नाते-रिश्तेदार वहां पहुंच गए। लोगों ने चोरी की जानकारी पुलिस को दी। मौके पर पहुंची पुलिस ने परिवार वालों से पूछताछ करने के साथ ही मामले की जांच-पड़ताल की। पीड़ित मनीषचंद्र शर्मा बंटी ने बताया कि चोर 40 हजार नकदी के साथ ही करीब 20 लाख का जेवरात ले गए है, जो आलमारी में रखा था।

इसके साथ ही बैग में रखा दो लैपटाप, दो मोबाइल और एक कैमरा ले गए है। मकान के पास लगे सीसीटीवी कैमरा के फुटेज को देखा गया तो रात करीब पौने दो बजे तीन लोग मकान की बाउंड्री फांदकर अंदर जाते हुए दिख रहे हैं। चोरी की इस वारदात को लेकर लोगो में चर्चा होती रही। लोग कहते रहे कि इधर-उधर की कौन कहे, डीएम आवास परिसर से सटे मकान को ही चोरों ने अपना निशाना बना दिया। इससे यह साफ है चोरों में पुलिस का जरा भी खौफ नहीं है।