गाजीपुर-कोविड टीकाकरण को लेकर किशोरों व किशोरियों में उत्साह

गाजीपुर- जनपद में सोमवार से 34 स्थानों पर 15 से 18 वर्ष के किशोर-किशोरियों के कोविड टीकाकरण अभियान शुरू हुआ, इसको लेकर उनमें काफी उत्साह दिखा। जिला अस्पताल में टीकाकरण कराने पहुंचे आकाश गुप्ता(16) ने बताया कि उन्हें टीकाकरण से डर नहीं लगा, क्योंकि उनकी बहन और उनके माता-पिता पहले ही अपना टीकाकरण करा चुके हैं। उन्हें कोई भी परेशानी नहीं आई। मानसी(17) ने बताया कि उन्हें न्यूज़ चैनलों और अपने अभिभावकों के माध्यम से टीकाकरण की जानकारी हुई, जिसके लिए उन्होंने ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन कराया था और आज जिला अस्पताल पहुंचकर टीकाकरण कराया। मानसी ने कहा कि टीकाकरण कराने में हमें कोई डर नहीं लगा। हम अपने स्कूल और दोस्तों से भी टीकाकरण कराने की बात कहेंगे।श्वेता सिंह(16) वर्ष ने बताया कि इंटरनेट के माध्यम से उन्हें टीकाकरण की जानकारी हुई। वह ऑन द स्पॉट रजिस्ट्रेशन कराकर अपना टीकाकरण कराया है। उन्होंने कहा कि जिन लोगों ने अभी तक टीकाकरण नहीं लगाया है उन्हें स्वयं अपने और अपने परिवार की सुरक्षा के लिए लगवाना चाहिए।

जिला प्रतिरक्षण अधिकारी डॉ उमेश कुमार ने बताया कि सोमवार से जिला अस्पताल, जिला महिला अस्पताल के साथ ही ब्लॉक के प्राथमिक और सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र सहित कुल 34 स्थानों पर टीकाकरण किया जा रहा है।इसके लिए जनपद का लक्ष्य 2.53 लाख रखा गया है। शासन द्वारा टीकाकरण के लिए रजिस्ट्रेशन कराने का निर्देश दिया गया था, जिसके तहत पोर्टल पर करीब 5000 लोगों ने सफलतापूर्वक रजिस्ट्रेशन कराया है। उन्होंने बताया कि 15 से 18 वर्ष के किशोर-किशोरियों के लिए ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन के साथ ऑन स्पॉट रजिस्ट्रेशन की व्यवस्था विभाग के द्वारा किया गया है। इसके लिए उन्हें अपना आधार कार्ड, स्कूल का प्रमाण पत्र, बैंक पासबुक, राशन कार्ड में से कोई एक प्रमाण पत्र लाना अनिवार्य होगा।

मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ हरगोविंद सिंह ने बताया कि बैठक में कोविड-19 नियंत्रण को लेकर जिलाधिकारी द्वारा कई महत्वपूर्ण निर्देश दिए गए, जिसमें कोविड पॉज़िटिव मरीज को चिकित्सा सुविधा देना, मानव संसाधन, बायोमेडिकल के निस्तारण के साथ ही कोविड कमांड सेंटर को क्रियाशील करने के संबंध में निर्देश दिया गया। टेस्टिंग को लेकर एंटीजन किट के द्वारा अधिक से अधिक लोगों का जांच करने के लिए निर्देश दिया गया। जनपद के सभी स्वास्थ्य केंद्रों के साथ ही मोबाइल टीम के द्वारा भी टेस्टिंग बढ़ाई जाएगी। इसके अलावा बस स्टैंड, रेलवे स्टेशन पर थर्मल स्कैनर और अन्य माध्यमों से भी टेस्टिंग भी होगा।

सीएमओ ने बताया कि फ्रंटलाइन वर्करों को शत-प्रतिशत प्रीकॉशनरी डोज देना है, जिसे 20 जनवरी तक प्रत्येक दशा में पूरा करने का निर्देश दिया गया है। इसके साथ ही समस्त विभागों में कार्यरत कर्मचारीयों को दूसरा डोज प्रमाण पत्र विभागाध्यक्ष के माध्यम से मिलने के पश्चात उन सभी लोगों का वेतन आहरित करने का निर्देश दिया गया। टीकाकरण के लिए लोगों को प्रोत्साहित करने हेतू प्रचार प्रसार करने का भी निर्देश दिया गया है।

Play Store से हमारा एप्प डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें Find us on Play Store