गाजीपुर-क्या सदर विधानसभा में कांग्रेस की लोटिया डूबी ?

गाजीपुर-उत्तर प्रदेश में जब से निर्वाचन आयोग द्वारा चुनाव का बिगुल बजा है, सभी राजनैतिक दलों द्वारा विधानसभा चुनाव 2022 के प्रत्याशियों के मंथन और चयन का सिलसिला जारी है। आज कांग्रेस कमेटी द्वारा गाजीपुर जनपद के दो विधानसभा जखनिया और सदर से प्रत्याशियों की घोषणा की गई है।यह सूची सत्य या असत्य मै मै नहीं जानता लेकिन जारी सुची के अनुसार जनपद की जखनिया सुरक्षित विधानसभा से कांग्रेस के वर्तमान जिला अध्यक्ष सुनील राम प्रत्याशी बनाए गए हैं, वहीं सदर विधानसभा से लौटन राम निषाद को कांग्रेस का सदर विधानसभा से प्रत्याशी बनाया है।लौटन राम निषाद को कांग्रेसका प्रत्याशी बनाए जाने पर कांग्रेश के प्रति कई दशकों से समर्पित होकर संघर्ष करने वाले कार्यकर्ता और विधानसभा के टिकट के दावेदारों में मायूसी छाई हुई है।सदर विधानसभा से एक टिकट के दावेदार ने नाम नहीं छापने की शर्त पर कहा कि सदर विधानसभा में निषाद समाज का अधिकतम 5000 वोट है ऐसे परिस्थितियों में क्या सदर विधानसभा से कांग्रेस प्रत्याशी बेहतर परिणाम दे पाएग ?यह तो आने वाले समय में पता चलेगा। लेकिन कांग्रेश के समर्पित कार्यकर्ताओं में मायूसी अवश्य व्याप्त है।वैसे उत्तर प्रदेश कांग्रेस की प्रभारी प्रियंका गांधी ने कहा था कि विधानसभा की 40 % सीट महिलाओं को दिया जायेगा,इस हिसाब से गाजीपुर जनपद की 7 विधानसभा सीटों मे 3 विधानसभा की सीट महिलाओं को मिलना चाहिए था। लेकिन आज जारी सूची को देखकर लगता है कि प्रियंका गांधी की घोषणा भी हवाहवाई साबित होगी।कांग्रेस की अधिकतम 4-5 महिलाओं ने विधनसभा के टिकट की दावेदारी किया था। लगता है सभी महिला उम्मीदवार के आशाओं पर पानी ही फिरेगा।

Also Read:  जाति बिशेष के पत्रकारों ने फिर छेंडा मुख्यमंत्री बदलने का राग