गाजीपुर-गर्जा बुलडोजर, ध्वस्त अतिक्रमण

0
4681

गाजीपुर। विगत एक सप्ताह से अति प्राचीन रामलीला कमेटी ‘हरिशंकरी’ गाज़ीपुर के लंका स्थित भूखंड पर दबंगों द्वारा कब्ज़ा किए जाने की शिकायत पर आज रविवार को जिला प्रशासन हरकत में आया और नायब तहसीलदार ‘सदर’ अभिषेक सिंह और पुलिस बल की मौजूदगी में जेसीबी से अवैध रूप से किए जा रहे पक्के निर्माण को ध्वस्त किया गया। इस विषय में कमेटी के अध्यक्ष दीना नाथ गुप्ता ने बताया कि रामलीला के चार नम्बर गेट के पश्चिम तरफ कमेटी के भूखंड पर दबंगो की नीयत खराब है। वे बार बार अतिक्रमण करके उसपर टेम्प्रोरी टेंट और शेड लगा लेते हैं, कमेटी के लोग जब शिकायत करते हैं तो जिला प्रशासन उसे हटा देता है लेकिन भूमाफिया और दबंग नियत के लोग जो वहीं रहते हैं वे बिना प्रशासन से डरे फिर कब्जा करने की जुगत में लग जाते हैं। अभी हाल में जब कोरोना लगा हुआ था तो दबंगो ने उसी जमीन पर कब्जा किया जिसे तत्कालीन जिलाधिकारी के एडिश पर जॉइंट मजिस्ट्रेट प्रभास कुमार ने जेसीबी से तुड़वाया था और अब फिर दो महीने बाद दबंगो ने रामलीला की दीवार से शेड बनाकर दर्जनों मवेशी बांधकर दूध बेचने का कार्य करने लगे और पक्का निर्माण शुरू कर दिए। कमेटी के लोग इस विषय में जिलाधिकारी मंगला प्रसाद सिंह और जॉइंट मजिस्ट्रेट प्रभास कुमार से फिर मिले और कब्जे की बात बताई लेकिन लेकिन मनबढ़ दबंग पक्का निर्माण करते हुए छत भी डाल दिए, जिसकी बार बार शिकायत पर आज रविवार को जिला प्रशासन ने फिलहाल अवैध निर्माण तो गिरवा दिया है लेकिन अभी भी दबंगो का सारा सामान और मवेशी वहीं है। कमेटी का कहना है कि जबतक दबंगो के खिलाफ कड़ी कानूनी करवाई नहीं होगी तबतक वे नहीं मानेंगे।

इस मामले में ओमप्रकाश तिवारी उर्फ बच्चा तिवारी ने दूरभाष पर बताया है कि जिला प्रशासन ने अवैध निर्माण हटाया इसके लिए वो साधुवाद के पात्र हैं, इस मामले में जिला प्रशासन को कमेटी ने सारे कागजात वगैरह सौप दिए हैं और कमेटी ये चाहती है कि जिला प्रशासन उक्त जमीन को घिरवा कर गेट से बंद करने में अति प्राचीन रामलीला कमेटी का सहयोग करे जिससे सामाजिक और सांस्कृतिक शहरी धरोहर भूमाफियाओं की बुरी निगाहों से बची रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here