गाजीपुर-गैंगरेप व हत्या से आक्रोशित महिलाओं का धरना

0
195

गाजीपुर-अखिल भारतीय प्रगतिशील महिला एसोसिएशन (एपवा) की कार्यकर्ताओं ने पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के तहत, बदायूं गैंगरेप व हत्या के खिलाफ, फास्ट ट्रैक कोर्ट में मुकदमा चलाकर त्वरित कड़ी से कड़ी सज़ा दो, प्रदेश में बढ़ रही महिलाओं पर हिंसा, गैंगरेप छेड़छाड़, बलात्कार की घटनाओं के लिए जवाबदेह योगी सरकार इस्तीफा दो, अपराध और अपराधियों पर लगाम लगाओ, बदायूं घटना में पीड़ित महिला को जिम्मेदार ठहराने वाली राष्ट्रीय महिला आयोग की सदस्य चंद्रमुखी देवी की आयोग से सदस्यता खारीज करो,जनगीत कलाकार, सपना बौद्ध,बिशाल गाजीपुरी,को जान से मारने,तथा स्टुडियो को जलाने में दलित एक्ट के तहत नामजद आरोपियों को गिरफतार करो, सपना बौद्ध,बिशाल गाजीपुरी के सुरक्षा की व्यवस्था करो, आदि सवालों को लेकर करन्डा ब्लॉक और गाजीपुर कामरेड सरजू पाडेय पार्क में धरना प्रदर्शन किया। महामहिम राज्यपाल महोदय को संबोधित5सुत्रीय ज्ञापन नायब तहसीलदार सदर को सौंपा धरना प्रदर्शन को संबोधित करते हुए अखिल भारतीय प्रगतिशील महिला एसोसिएशन एपवा की जिला कार्यकारिणी सदस्य शकुंतला देवी ने कहा कि उत्तर प्रदेश और गाजीपुर में महिलाओं के ऊपर हो रही हिंसा, गैंगरेप, बलात्कार, छेड़छाड़,की तथा बदायूं की घटनाओं ने साबित कर दिया है कि प्रदेश में सुपर जंगल राज चल रहा है। मेडिकल रिपोर्ट से ज्ञात हुआ है कि महिला के गुप्तांग मे निर्भया की तरह लोहे का रॉड मंदिर महंथ और उसके सहयोगियों ने डाला था आन्तरिक अंगो में काफ़ी चोटें आई हैं निर्भया जैसी आंगनबाड़ी महिला की मौत पर एपवा शोक व्यक्त करती है तथा फास्ट ट्रैक कोर्ट ने मुकदमा चलाकर आरोपियों को तत्काल कड़ी से कड़ी सजा देने की मांग करती है। ऐसी घटनाएं आम परिघटना बनती जा रहीं हैं जनता को न्याय दिलाने के बजाय पुलिस सत्ता संरक्षण में अपराधियों का साथ दे रही है। उत्तर प्रदेश में योगी आदित्यनाथ को मुख्यमंत्री बने रहने हक नहीं है। करन्डा ब्लॉक में धरना प्रदर्शन को करते हुए संबोधित एपवा जिला सह सचिव मंजू गोंड ने कहा कि शादियाबाद थाना क्षेत्र के सराय गोबिंद निवासी,हमीदुन निशा,पर हमला करने वाले, नोनहरा थाना बिशुनपुरा गांव निवासी दलित जनगीत कलाकार सपना बौद्ध बिशाल गाजीपुरी को जान से मारने की धमकी देने तथा स्टुडियो जलाने दलित एक्ट में नामजद आरोपियों न तो नोनहरा थाना की पुलिस गिरफ्तार कर रही है न ही सुरक्षा व्यवस्था कर रही है दो साल के बच्चे को लेकर गांव छोड़कर बाहर रहने को विवश है उन्होंने सपना बौद्ध बिशाल गाजीपुरी के सुरक्षा व्यवस्था की मांग के साथ पूरे प्रदेश में महिलाओं के ऊपर हो रही गैंगरेप छेड़छाड़ बलात्कार हिंसा की घटनाओं पर कारगर कदम उठाने की मांग उठाई। धरना को तारा देवी अंजूदेबी सिमिरखी सुनीता शहानी, मुन्नी देवी, निर्मला, पुष्पा देवी,सोनी कलिन्दा परमज्योति मालती ने सम्बोधित किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here