गाजीपुर-चोचकपुर पीपा का पुल चलू हुआ

0
646


गाजीपुर-जनपद और चंदौली जिले को जोडने हेतू गंगा पर बने पीपा पुल को बन्द हुए मात्र 3 महीने मे ही लोगों में खलबली मच जाती है, वहीं अब पीपा पुल आज रविवार 25 अक्टूबर से शुरू कर दिया गया है। जिससे क्षेत्रों के लोगों में खुशी की लहर देखने को मिल रही है।बता दे कि गाजीपुर के चोचकपुर गंगा घाट और चन्दौली के नगवां के बीच गंगा नदी घाट पर पीपा पुल के चालू होते ही दोनो जिलो के सीमावर्ती इलाके के लोगों में खुशी की लहर दौड़ गई है। वाहन सरपट दौड़ने लगे हैं। टेंपो, बोलेरो, स्कॉर्पियो, इनोवा, जीप और ट्रैक्टर समेत विभिन्न वाहन पुल से आने-जाने लगे हैं। जिन मोटरसाइकिलों को नाव पर लादकर गंगा पार कराने के बाद लोग उस पर सवारी कर पाते थे, अब बाइक पर सवार होकर पीपा पुल से फर्राटा भरते हुए गंगा पार कर रहे हैं। अभी लग्न का मौसम चल रहा है। लिहाजा शादी-विवाह समेत अन्य समारोहों में लोगों को पहुंचना आसान हो गया है। इससे समय और दूरी दोनों की बचत हो रही है। जानकारी के अनुसार बरसात के मौसम में बाढ़ के आने से पूर्व पीपा पुल को हर वर्ष की भांति जून महीने के अंत में खोलकर हटा दिया गया था। ताकि पुल का पीपा बाढ़ के प्रकोप में भी सुरक्षित रह सके। तब से गंगा पार कर चंदौली व अन्य जिलो में जाने तथा गाजीपुर जिला के विभिन्न स्थानों पर पहुंचने के लिए गंगा पार नाव से ही करना पड़ता था।जो खर्चिला, खतरनाक, समय की बरबादी व असुविधाजनक था। साढ़े तीन महीने के इंतजार व असुविधाजनक यात्रा से छुटकारा मिलने के बाद लोगों में खुशी का माहौल होना स्वाभाविक बात है। पीपा पुल पर आवागमन का शुभारंभ सुआपुर मेहरौली के पूर्व मुखियां वीरेन्द्र सिंह फीता काटकर व चार चक्का हल्के वाहन का परिचालन कराकर की। जिसके बाद पीपा पुल को आम यात्रियों के दो पहिया व हल्के चार पहिया वाहनों के परिचालन के लिए खोल दिया गया।
इस मौके पर राकेश सिंह, मुन्ना सिंह, रुस्तम अली,अन्य सम्मानित लोगों के साथ दर्जनों पीपापुल कर्मचारियों की मौजूदगी रही।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here