गाजीपुर-जब मासूम का रोना सुनकर जगे परिजन तो – – –

गज़ीपुर-बहरियाबाद थाना क्षेत्र के भंवरूपुर निवासिनी अल्का देवी आयु 22 वर्ष पत्नी दीपक राम ने देर रात फांसी के फंदे से झूलकर अपनी जान दे दी। सूचना पाकर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। सूचना पाकर मायके के लोग भी मौके पर पहुंच गए। मृतका की मां प्रमिला देवी ने थाने में तहरीर देकर पति दीपक के खिलाफ दहेज उत्पीड़न का केस दर्ज कराया है।

भंवरूपुर निवासी फिरंगी राम के पुत्र दीपक की शादी 23 जून 2019 को दुल्लहपुर थाना क्षेत्र के छपरी निवासिनी अलका के साथ हुई थी। उसे करीब दस माह की एक बच्ची भी है। अल्का का पति दीपक अपने दोनों भाइयों के साथ मुम्बई में रहकर मछली का धंधा करता है। करीब छह माह पूर्व वह घर आया था। शनिवार की रात खाना खाने के बाद सास, ससुर और जेठान सभी अपने-अपने कमरे में सोने चली गयी। सास सुखदेई देवी और परिजनों ने पुलिस को बताया कि देर रात करीब एक बजे नवजात बच्ची के रोने की आवाज सुनकर उनकी नींद खुली। कमरे का दरवाजा अंदर से बन्द था। सुराख से अंदर झांककर देखने पर पता चला की विवाहिता साड़ी का फंदा बनाकर पंखे के सहारे लटक रही थी। शोर मचाने पर काफी लोग इकट्ठा हो गए।

Also Read:  वाराणसी के सीटी मजिस्ट्रेट को धमकी

बहरियाबाद थानाध्यक्ष अगम दास ने बताया कि शव को कब्जे में लेते हुए पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है। उन्होंने बताया कि मृतका की मां प्रमिला देवी ने तहरीर देकर आरोप लगाया है कि दहेज के लिए उसका पति दीपक आएदिन मेरी पुत्री को प्रताड़ित करता था। मुम्बई से फोन पर उसे धमकी देता रहता था, जिससे तंग आकर उनकी बेटी ने खुदकुशी कर ली। फिलहाल केस दर्ज कर पुलिस आगे की कार्रवाई में जुटी हुई है।

Also Read:  फर्जी क्षात्र संख्या के सहारे परिषदीय प्राथमिक शिक्षा