गाजीपुर-जवान का शव पंचतत्व में विलीन

गाजीपुर-मरदह थाना के गांई मठिया गांव निवासी सीआरपीएफ जवान 32 वर्षीय रणधीर यादव पुत्र काशीनाथ यादव का मणिपुर के इम्फाल स्थित चिकित्सालय में इलाज के दौरान निधन हो गया था। वह 32वीं बटालियन सीआरपीएफ में चालक पद पर तैनात थे। रणधीर यादव को पेट में दर्द की शिकायत होने पर मंगलवार की सुबह इलाज के लिए रिम्स हॉस्पिटल इम्फाल में भर्ती कराया गया था। इलाज के दौरान इनका निधन हो गया। वहीं देर रात हवाई जहाज से पार्थिव शरीर वाराणसी के बाबतपुर हवाई अड्डे पर लाया गया। जहां से वाहन से सड़क मार्ग द्वारा वाराणसी से गांई मठिया गांव शुक्रवार की सुबह करीब 5:00 बजे पहुंचा। रणधीर यादव के निधन की सूचना पर परिवार में जहां कोहराम मचा रहा, वहीं दूसरी ओर गांव सहित क्षेत्र में शोक छाया रहा। हजारों की संख्या में उमड़ी भीड़ ने पार्थिव शरीर पर पुष्पांजल कर श्रद्धांजलि देते हुए अंतिम दर्शन किया।

पार्थिव शरीर निवास स्थल से सुबह दस बजे अंतिम संस्कार के लिए गाजीपुर शहर स्थित श्मशान घाट के लिए निकला। पार्थिव शरीर के साथ शव यात्रा गांई मठिया गांव से मटेहूं चट्टी तक निकाली गई, इसमें बड़ी संख्या में लोग शामिल रहे। इस दौरान भारत माता की जय, वदे मातरम, हिन्दुस्तान जिन्दाबाद, रणधीर यादव अमर, यह जत्था बलिदानी है, गाजीपुर का पानी आदि नारे के साथ पैदल यात्रा लगभग पांच किलोमीटर तक चली। मुखाग्नि जवान के पिता काशीनाथ यादव ने दी। केन्द्रीय रिजर्व पुलिस बल के जवानों ने पार्थिव शरीर को अंतिम सलामी दी। इस दौरान कासीमाबाद सीओ विजय आनंद शाही, थानाध्यक्ष राजकुमार यादव, चौकी मटेहूं प्रभारी भूपेन्द्र कुमार निषाद, भगवती शरण दूबे, राधेश्याम यादव, नकुल यादव आदि ने फूल-माला के साथ श्रद्धांजलि अर्पित की।