गाजीपुर-जिलाधिकारी का त्वरित एक्शन

गाजीपुर-करंडा विकास खण्ड के लखनचंदपुर स्थित गेहूं क्रय केंद्र पर किसानों का टोकन होने के बावजूद तौल न होने के बाबत ग्रामीणों ने हर्ष सिंह के नेतृत्व में जिलाधिकारी को पत्रक सौंपा। बताया कि सभी किसान बीते एक सप्ताह से टोकन लेकर लखनचंदपुर में ट्रैक्टर पर गेहूं लादकर खड़े हैं। इसके बावजूद अब तक किसानों के गेहूं की तौल नहीं की गई। पूछने पर इंचार्ज द्वारा जवाब दिया जाता है कि तौल बंद है। वहीं सरकार का बयान है कि तौल की तिथि बढ़ाकर 22 कर दी गई है। कहा कि वहां पर किसान 10 जून से ही ट्रैक्टर लेकर खड़े हैं। कुछ किसानों के 1500 कुंतल गेहूं खरीद लिए गए हैं लेकिन अब तक उनकी फीडिंग नहीं की गई है। इंचार्ज का कहना है कि किसानों के गेहूं का तौल हो गया है, लेकिन फीडिंग नहीं हुई है। इस बाबत किसानों ने कहा कि अगर हमारे गेहूं की खरीद नहीं होती है तो हम किसान गेहूं लाकर सड़क पर या सरजू पांडेय पार्क या फिर राइफल क्लब के पास फेंक देंगे। इस पर जिलाधिकारी ने किसानों को भरोसा दिया कि गेहूं की खरीद होगी। लेकिन करंडा केंद पर नहीं हो पाएगी, क्योंकि वहां पर कांटा बंद हो गया है। बताया कि उनके गेहूं की खरीद सादात में होगी। इसके बाद सभी किसानों के कागजों को सादात मंडी इंचार्ज को दे दिया गया। इस मौके पर अमित चौरसिया, धर्मेंद्र कुमार यादव, प्रहलाद सिंह, गोलू कुशवाहा, हरदेव सिंह, श्याम नारायण, नंदलाल यादव आदि रहे।

Also Read:  युवती से दुष्कर्म कर ,हत्या के मामले मे उम्र कैद