गाजीपुर-टेम्पो पलटा,दो की मौत चार घायल

गाजीपुर-सैदपुर नगर के रामतवक्का स्थित अधूरा पड़े फोरलेन के अप्रोच मार्ग ने युवक व वृद्धा की जान ले ली, वहीं दुर्घटना में 4 लोग घायल हो गए। पुलिस ने शवों को कब्जे मे लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।

नगर के जौहरगंज से आगे गोरखपुर-वाराणसी फोरलेन को सैदपुर कस्बे की सड़क से जोड़ने के लिए अप्रोच मार्ग बनाया गया है, जो अभी अधूरा है और बनाने के बाद ही कुछ स्थानों पर धंस भी गया है। मेठ गोपालदास सार्वजनिक भोज आयोजनों में भोजन बनवाने, सब्जी कटवाने आदि का काम करते हैं। बीती रात वो दुल्लहपुर के तिरछी में आयोजित तेरही में काम करने गए थे और रात्रि करीब 2 बजे मीरजापुर के अदलहाट स्थित विशेषरपुर माफी निवासी मुकेश कुमार 30 पुत्र रामचंदर के टेंपो में बैठकर वापिस आ रहे थे। उनके साथ मुकेश का छोटा भाई सुनील कुमार 25 समेत सब्जी काटने व पूड़ी बेलने वाली वाराणसी स्थित रामनगर भीटी मलियाखाने निवासिनी मालती देवी 60 पत्नी स्व. पारस पटेल, पार्वती 60, कल्लन 40 व मंशा 55 भी थे। जैसे ही वो जौहरगंज के आगे फोरलेन पर चढ़ रहे थे, वहां अधूरे डिवाइडर में टेंपो का पहिया फंसने से वो पलट गई। जिसमें सुनील व मालती की मौके पर ही मौत हो गई। वहीं बाकियों को गंभीर चोटें आईं तो उन्हें लेकर कोतवाल तेज बहादुर सिंह ने उन्हें सीएचसी पहुंचाया। उनमें से पार्वती की हालत गंभीर होने पर रेफर कर दिया गया। पुलिस ने अगले दिन शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेजा। इधर घटना के बाद मृतकों के परिजनों में कोहराम मच गया। 8 वर्ष पूर्व ही पति की मौत के बाद परिवार के भरण पोषण के लिए मृतका मालती कार्यक्रमों में खाना बनाती थी। मां की मौत के बाद बेटे राजेश पटेल व पप्पू पटेल का रो-रोकर बुरा हाल है। वहीं मृतक सुनील भी अपने पीछे पत्नी सुषमा समेत दो बच्चे छोड़ गया है। पत्नी सुषमा व दोनों बड़े भाईयों मुकेश व अनिल का रो-रोकर बुरा हाल है। बड़े भाई अनिल ने बताया कि सुनील खाना बनाकर परिवार का भरण पोषण करता था।