गाजीपुर-ठनठन गोपाल मास्टर साहब

गाजीपुर-आने वाले विधानसभा चुनाव के चलते जहां सरकार कर्मचारियों, संविदा कर्मियों ,किसानों व मजदूरों को आयोदिन नये-नये ख्वाब दिखा रही है वहीं तमाम संविदा कर्मियों व बेसिक शिक्षा विभाग इस महीने बजट की कमी से जूझ रहा है। परिषदीय विद्यालयों के शिक्षकों को सितंबर महीने का वेतन अब तक नहीं मिल सका है, जबकि आमतौर पर वेतन महीने की पहली से पांच तारीख के बीच में खातों में चला जाता है। विभाग के आठ हजार से ज्यादा शिक्षकों और कर्मचारियों के सामने अब दशहरा बिना तनख्वाह के मनाने का संकट आन खड़ा है।

Also Read:  लखनऊ-ट्विटर के नेता रह गए है अखिलेश-मनोज यादव

 परिषदीय स्कूलों में कार्यरत शिक्षक, शिक्षामित्र, अनुदेशक और कर्मचारी काम करते हैं ,  मगर इस महीने बजट खत्म हो चुका है। इस सिलसिले में वित्त एवं लेखाधिकारियो का कहना है कि हर छह महीने में शासन की तरफ से बजट जारी किया जाता है। मार्च में जारी छह महीने का बजट पिछले महीने खत्म हो गया, जिसके बारे में सूचना भेज दी गई थी। वेतन का बिल भी बना दिया गया है। शासन से जल्द बजट मिल जाने की उम्मीद है। मिशन प्रेरणा, मिशन शिक्षण संवाद से लेकर डीबीटी तक के सभी कार्यों के साथ शिक्षण का काम शिक्षकों ने पूरी लक्जें5 एवम निष्ठा से किया है , मगर बजट की कमी से सितंबर की तनख्वाह नहीं मिलने से शिक्षकों में नाराजगी है। खासतौर पर दुर्गापूजा के साथ ही त्योहरों की तैयारी के लिए उनके पास पैसे नहीं हैं। ऐसे में शैक्षिक संगठनों और शिक्षकों में रोष की स्थिति है ।

Also Read:  गाजीपुर-पाक्सो एक्ट में वांछित अभियुक्त गिरफ्तार