गाजीपुर-तीन के खिलाफ एफआईआर दर्ज

गाजीपुर-सैदपुर थानाक्षेत्र के महुलियां गांव में गोली चलने से युवक के घायल होने की कथित सूचना के बाद पुलिस हलकान हो गई। मौके पर सीओ बलराम समेत कोतवाल राजीव सिंह व पूरी फोर्स पहुंच गई। जिसके बाद घायल को सीएचसी लाया गया और प्राथमिक उपचार के बाद वाराणसी रेफर कर दिया गया। हालांकि पुलिस ने घायल को गोली लगने से इंकार करते हुए कहा कि आपसी मारपीट में युवक को चोट लगी है। महुलियां निवासी उमाशंकर यादव 35 पुत्र अभयनाथ यादव घर पर ही रहता है और घर के काम में हाथ बंटाता है। बकौल उमाशंकर, गुरूवार की शाम करीब 6 बजे उसे गांव के ही एक युवक ने ने भोजन पार्टी में बुलाया। उमाशंकर ने आरोप लगाया कि वो वहां पहुंचा तो उसके सिर में सटाकर पीछे से अभय ने गोली मार दी। लेकिन हैरानी की बात ये है कि सिर के पिछले बेहद संवेदनशील हिस्से में कथित रूप से गोली लगने के बाद वो खुद ही घर पहुंचा और वहां से परिजनों के साथ सीएचसी आया। इस बीच मौके पर सीओ व कोतवाल पहुंच गए। यहां भी उमाशंकर गोली मारे जाने की बात करता रहा। उपचार के दौरान वो हंसता भी दिखा। जबकि उसका उपचार कर रहे स्वास्थ्यकर्मियों ने भी बताया कि जिस तरह से उसने बताया कि सटाकर गोली मारी गई है, उसके आधार पर सिर के परखच्चे उड़ गए होते, लेकिन सिर में करीब 1 इंच गहरी चोट है और उसकी हड्डी टूटी है। इसके अलावा गोली लगने से उसके आस पास के बाल भी जल गए होते, लेकिन बाल सही सलामत हैं। वहीं क्षेत्राधिकारी बलराम ने बताया कि खाने पीने के दौरान हुए मारपीट में वो घायल हुआ है। गोली चलने की घटना पूरी तरह से गलत है। क्षेत्राधिकारी की बात सीटी स्कैन रिपोर्ट मे भी सही साबित हुई। उमाशंकर के भाई रमाशंकर की तहरीर पर महुलिया गांव के तीन युवकों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर पुलिस छानबीन मे जूट गयी है।