गाजीपुर-दहशत में चिकित्सक, स्टाफ और मरीज

0
494

गाजीपुर-देवकली का प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पूरी तरह से जर्जर हो चुका है और कभी गिरने के कगार पर है। जिसके बावजूद चिकित्सक वहां बैठकर मरीजों का उपचार करने को विवश हैं। अस्पताल का ओपीडी कक्ष इस कदर जर्जर हो चुका है कि बारिश होने के बाद पानी टपकने लगता है। जर्जर हो चुका उक्त भवन कभी भी गिरकर लोगों के लिए जानलेवा साबित हो सकता है।

दुशरी तरफ ब्लॉक परिसर में करोड़ों रूपयों की लागत से बनकर तैयार सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के भवन को आज तक चालू नहीं किया गया। जबकि उसके निर्माण के समय ही आश्वासन दिया गया था कि उसके 2014 में ही चालू कर दिया गया जाएगा। इस दौरान सूबे में कई सरकारें आईं और गईं लेकिन एनआरएचएम घोटाले की भेंट चढ़ जाने से उक्त भवन का कार्य पूर्ण नहीं हो पाया। आलम ये है कि इस अस्पताल को चुनाव के समय में सभी दलों द्वारा मुद्दा बनाया जाता है लेकिन किसी ने भी अब तक इसकी सुधि नहीं ली। लोगों का कहना है कि ऐसा कोई जनप्रतिनिधि नहीं मिला जो अस्पताल को शुरू करा सके।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here