गाजीपुर-दुपहिया वाहन के साथ नि:शुल्क हेलमेट अवश्य लें


गाजीपुर- त्योहारों के सीजन में दोपहिया वाहनों की खूब खरीद बिक्री होती है। जानकारी के आभाव में अधिकांश खरीददार अपने दुपहिया वाहन के साथ एजेंसी से हेलमेट नही लेते है जिससे पुलिस से चालान और दुर्घटना में घायल होने का खतरा बना रहता है। केंद्रीय मोटर वाहन नियमावली 1989 के नियम 138 एफ के तहत डीलर्स को दोपहिया वाहन की बिक्री पर खरीदार को आईएसआई मानक वाला हेलमेट मुहैया कराना अनिवार्य है। जब ग्राहक टू-व्हीलर खरीदने के लिए कंपनी के शोरूम पर जाते है तो डीलर फर्जीवाड़ा करते हुए ग्राहक को या तो हेलमेट देते नहीं है या फिर नकली हेलमेट पकड़ा देते हैं। आरटीओ ऑफिस में वाहन सॉफ्टवेयर में हेलमेट का 4151 कोड नंबर डालने के बाद ही वाहन का रजिस्ट्रेशन हो सकेगा। एआरटीओ अधिकारी राम सिंह ने बताया कि नियमों के तहत हेलमेट के बिना दोपहिया वाहनों को बेचा नहीं जा सकता है डीलर्स को वाहन की डिलिवरी देते समय आईएसआई मार्क वाला हेलमेट देना जरूरी है। सड़क परिवहन मंत्रालय की तरफ से सड़क हादसों में कमी लाने के निर्देश जारी किए गए है। डीलर को सॉफ्टवेयर में हेलमेट का नंबर डालना होगा, जिसके डालते ही हेलमेट कंपनी के निर्माता का नाम, उसका बैच नंबर और कंपनी की पूरी डिटेल सॉफ्टवेयर पर आ जाएगी। विभाग लगातार एजेंसियों की जांच करती है और किसी क्रेता ने शिकायत किया तो डीलर पर कड़ी कार्यवाही की जाती है। डीलर वाहन क्रेता को आईएसआई मार्का हेलमेट नही देता है तो उसका लाइसेंस रद्द कर दिया जाएगा। सरकार ने क्षेत्रीय परिवहन कार्यालयों को आदेश दिया है हेलमेट नंबर के जरिए ऑनलाइन जांच करने के बाद ही वाहन का रजिस्ट्रेशन किया जाय। इसके लिए सरकार ने वाहन-4 सॉफ्टवेयर में हेलमेट नंबर का विकल्प अपडेट किया जा रहा है।
 

Also Read:  गाजीपुर- फिर प्रारंभ हुआ" एक भी बच्चा छूटा, सुरक्षा चक्र टूटा" अभियान