गाजीपुर-दो दबंग आमने-सामने, प्रमुख चुनाव

ग़ाज़ीपुर-गाज़ीपुर में जिला पंचायत अध्यक्ष के चुनाव की सरगर्मी के बीच जखनियाँ ब्लॉक प्रमुख पद पर हो रहे घमासान का एक ताज़ा मामला पुलिस अधीक्षक के दरबार तक पहुंच गया। 8 क्षेत्र पंचायत सदस्यों व अपने दर्जनों समर्थकों के साथ 500 – 500 के नोटों गड्डी और हाथों में बिरोधी नारा लिखी तख्तियां लेकर एसपी गाज़ीपुर के पास पहुँच गए, और आरोप लगाया कि पूर्व ब्लॉक प्रमुख जखनियाँ द्वारा इस बार सभी बीडीसी सदस्यों के यहां मिठाई के डिब्बे में एक लाख रुपए देकर धमका रहे हैं कि वोट उन्ही की उम्मीदवार को मिलना चाहिए अन्यथा खैर नहीं। अब मामला पूरी तरह से राजनीतिक आरोप प्रत्यारोप का है तो पुलिस अधिकारी भी पूरे मामले में सतर्कता बरत रहे हैं।
इस मामले में एसपी गाज़ीपुर डॉ. ओमप्रकाश सिंह ने बताया कि जखनियाँ ब्लॉक के कुछ बीडीसी सदस्य आए थे और उन्होंने पूर्व में ब्लॉक प्रमुख रहे मसाला सिंह के खिलाफ आरोप लगाया है कि वे एक लाख रुपया देकर वोटिंग के लिए धमका रहे हैं, ये लोग एक लाख रुपए लेकर भी आए थे, हमने एसपी सिटी गाज़ीपुर को जांच के लिए निर्देशित किया है, जांच कर कठोर करवाई की जाएगी।

Also Read:  गाजीपुर-सीएमओ को लगा पहला कोरोना वैक्सीन

वहीं इस मामले में अगुवाई कर रहे पूर्व ब्लाक प्रमुख संतोष यादव ने बताया अभी निवर्तमान जखनियां ब्लाक प्रमुख मसाला सिंह अपने किसी प्रत्याशी ब्लॉक प्रमुख का चुनाव लड़ा रहे हैं और वे सभी क्षेत्र पंचायत सदस्यों के घर पहुंचकर मिठाई के डब्बे में 1 लाख रूपए भी दे रहे हैं और साथ मे यह भी कह रहे हैं कि वोट किसी अन्य को नहीं देना और देना तो उन्हीं के प्रत्याशी को देना। संतोष यादव ने आरोप लगाया कि पूर्व ब्लाक प्रमुख मसाला सिंह चाहते हैं उनका प्रत्याशी निर्विरोध रूप से निर्वाचित होवे,उन्होंने बताया कि यह लोग दबंग और अपराधी किस्म के व्यक्ति हैं और क्षेत्र पंचायत सदस्यों के घर जाकर धमका रहे हैं जिससे यह लोग पुलिस अधीक्षक महोदय के पास सबूत के साथ आकर अपनी जान माल की गुहार लगा रहे है। उन्होंने प्रशासन पर अपनी निष्ठा दिखाते हुए कहा कि हमें पूरी उम्मीद है कि पुलिस हमारी मदद करेगी लेकिन साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि अगर ऐसा नहीं हुआ तो हम मुख्यमंत्री तक गुहार लगायेंगे।
एसपी ऑफिस पर आए क्षेत्र पंचायत सदस्य सत्येंद्र सिंह यादव उर्फ गप्पू ने घटना की पुष्टि करते हुए बताया कि हमें मिठाई के डिब्बे में एक लाख रुपया जबरदस्ती दिए, लौटाने पर धमकाया भी जा रहा है।इसी के लिए हम लोग जान माल की गुहार लेकर पुलिस अधीक्षक से मिलने आए हैं। सदस्यों ने आरोप लगाया कि मसाला सिंह अपने यहां गोबर पाथने वाली एक महिला को जो उनके यहां काम करती है उसे जखनियाँ की ब्लॉक प्रमुख बनाना चाहते हैं। पुलिस अधीक्षक से मिलने वालों मे संतोष यादव पूर्व ब्लॉक प्रमुख,सत्येंद्र सिंह यादव उर्फ गप्पू (क्षेत्र पंचायत सदस्य, जखनियाँ, गाज़ीपुर) निखिल यादव, अन्य पीड़ित क्षेत्र पंचायत सदस्य उपस्थित थे। वैसे यहां बताना उचित होगा कि प्रमुख पद का चुनाव 3 जुलाई के बाद होगा लेकिन जोड़-तोड़ अभी से चालू है।

Also Read:  गाजीपुर-क्या राजकुमार पान्डेय को हार का भय सता रहा है ?