गाजीपुर-दो भाग में बंटी ट्रेन, मचा अफरातफरी

ग़ाज़ीपुर-छपरा से दुर्ग को जाने वाली 05159 अप सारनाथ एक्सप्रेस करीमुद्दीनपुर स्टेशन पर पहुंचने के पूर्व ही आउटर सिग्नल के पास दो भाग में बट गई। इसका पता जब ट्रेन के चालक व गार्ड को हुआ तो चालक द्वारा ट्रेन को रोककर बोगियों सहित इंजन पीछे लाकर टूटे हुए भाग को जोड़कर आगे के लिए चलाया गया। छपरा से चलकर दुर्ग को जाने वाली 05159 अप सारनाथ एक्सप्रेस अपने निर्धारित समय से चल रही थी।जब ट्रेन का अगला ठहराव करीमुद्दीनपुर रेलवे स्टेशन पर था तो यह ट्रेन करिमुद्दीनपुर रेलवे स्टेशन के पूर्वी पैनल के आउटर सिग्नल को क्रास कर आगे बढ़ी और चलती ट्रेन दो हिस्सों में बट गई।

इस ट्रेन की बोगी संख्या 18818 व 18125 के बीच का कप्लिग वैकुम्प पाइप सहित टूटकर अलग हो गया। अगला हिस्सा पिछले हिस्से को छोड़कर लगभग डेढ़ सौ मीटर आगे निकल गया। इसकी जानकारी जैसे ही ट्रेन के गार्ड आनंद कुमार को हुआ उसने इसकी सूचना चालक को दिया। चालक ने ट्रेन को रोककर इंजन को पीछे ला, टूटे हुए हिस्से को जोड़कर उसे फिर आगे स्टेशन पर ले गया। इस बीच करीमुद्दीनपुर रेलवे स्टेशन पर यह ट्रेन अपने निर्धारित समय से लगभग आधा घंटा देर से पहुंची। इसका निर्धारित समय 9:25 पर है और यह 9:54 पर करिमुद्दीनपुर स्टेशन पर पहुंची। करीमुद्दीनपुर स्टेशन मास्टर अनिल कुमार ने इस संबंध में बताया कि निर्धारित समय से आधे घंटे लेट से सारनाथ ट्रेन स्टेशन पर पहुंची और 9:55 पर आगे गंतव्य के लिए रवाना किया गया। इससे न कोई अप्रिय दुर्घटना नहीं हुआ और ना कोई ट्रेन ही इसके चलते प्रभावित रही। इस संबंध में पूछे जाने पर ट्रेन के गार्ड आनंद कुमार ने बताया कि तकनीकी कारणों से ट्रेन दो हिस्सों में बट गई थी। जिसे जल्द ही ठीक कर लिया गया। इस बीच लगभग आधे घंटे का समय लगा। आधे घंटे विलंब इस ट्रेन को करीमुद्दीनपुर स्टेशन से आगे के लिए चलाया गया।