गाजीपुर-नवजात को जानवरों ने बनाया अपना निवाला

गाजीपुर-शुक्रवार की सुबह जब मैं बिस्तर छोड़ नित्य क्रिया से फारिग हो चाय पीने के लिए नगर के रेलवे फाटक पर आया तो कड़ाके की ठंड में चाय की चुस्कियों के साथ पहले से बैठे लोगों में यह चर्चा सुन हैरान रह गया कि नगर के त्रिमुहानी से सटे दिलदारनगर-ताड़ीघाट ब्रांच लाइन के बगल में बीती रात किसी महिला ने एक नवजात शिशु को पॉलीथिन में लपेट कर फेंक दिया।इसके है।जिसे जानवरों ने अपना निवाला बना लिया।सुबह-सुबह इस घटना से भौचक मैं चर्चा ए आम स्थल पर पहुंचा तो वहां भी चर्चाओं का दौर जारी था। मौके पर आपस में तीन चार की संख्या में महिलाएं आपस मे गलचौर करती नजर आईं कि किसी कलमुँही ने अपने पाप के कलंक को मिटाने की गरज से नगर में चल रहे अवैध नर्सिंग होम में इस दुधमुंहे को जना और लोकलाज के भय से इसे कूड़े के ढेर पर प्लास्टिक में लपेट कर फेंक दिया। कूड़े के ढेर पर मंडराते कुत्तों ने इसे अपना निवाला बना लिया।इस बात की जानकारी होने की बात पास पड़ोस के अन्य लोगों ने भी बताई।जब इस बाबत एक चश्मदीदों से से पूछा कि पुलिस को खबर क्यों नहीं दी ? तो उनका जवाब मिला क्या खाक़ खबर देते जब जानवरों ने उस नवजात को चबा ही डाला।व्यथित मन उस कलयुगी माँ के विषय में सोचते वापस चल पड़ा कि ये नवजात किसकी उपज था,इस हश्र के लिए कौन दोषी है ।