गाजीपुर-नेता भाजपा के,साथ कार्यकर्ता सपा के

गाजीपुर-बुधवार को भारतीय जनता पार्टी कार्यालय में इंदु देवी को भारतीय जनता पार्टी की सदस्यता दिलाने के साथ ही उन्हें जखनियां ब्लाक प्रमुख पद का भाजपा समर्थित उम्मीदवार भी घोषित कर दिया गया।

जबकि जखनिया ब्लॉक प्रमुख चुनाव का अपने उम्मीदवार को लड़ाने के लिए भाजपा के युवा व जनपद के चर्चित चेहरा संतोष यादव भी अपने प्रत्याशी को लेकर काफी जोर-शोर से चुनाव मैदान में कुद चुके थे।लेकिन उनके साथ के समर्थक साईकिल चुनाव चिन्ह युक्त सपा गमछाधारी उत्साही युवाओं की फौज लगातार अपनी कारगुजारी के चलते क्षेत्र मे चर्चा का बिषय बन रहे थे।आपको बता दे कि संतोष यादव इससे पूर्व बसपा में रहे और बसपा के सिंबल पर सदर विधानसभा का चुनाव भी लडे।वक्त के साथ उनका मिजाज भी बदला और 2019 मे भाजपा में शामिल हो गये।लेकिन ब्लॉक प्रमुख चुनाव में सपा समर्थक युवाओं की भारी फौज उनके साथ नजर आती रही है।युवाओं की यह फौज संतोष के आगे पीछे साईकिल चुनाव चिन्ह युक्त लाल गमछा लेकर काफी आक्रमकता के साथ चुनाव प्रचार करते नजर आ रहे थे।चर्चा तो यह भी है कि इन्हीं युवाओं द्वारा अमारी के क्षेत्र पंचायत सदस्य मूराहू राम के अपहरण का प्रयास किया गया।दुशरी तरफ एक मजे हुए खिलाड़ी की तरह संतोष यादव द्वारा लगभग आधा दर्जन क्षेत्र पंचायत सदस्यों को लेकर निवर्तमान ब्लाक प्रमुख पति सत्येंद्र सिंह उर्फ मसाला पर बीडीसी सदस्यों के खरीद-फरोख्त का आरोप लगाते हुए पुलिस अधीक्षक के यहां पेश करवा दिया गया तथा पुलिस अधीक्षक ने इस आरोप की जाँच हेतू अधिकारी की नियुक्ति कर दिया गया।उसके दूसरे दिन रघुनाथपुर भड़ेवर में मसाला सिंह व संतोष यादव के समर्थकों की जबरदस्त भिड़ंत हो गई। जिसके बाद जखनिया कस्बा से लेकर कोतवाली तक मारपीट, गाली-गलौज का क्रम लगातार चलता रहा।इस दौरान दोनों पक्ष के युवाओं द्वारा एक दूसरे के साथ गाली गलौज, धक्का-मुक्की लोगों मे चर्चा का विषय बना रहा।सबसे बड़ी बात यह है कि भाजपा नेता के साथ सपा कार्यकर्ताओं हुजूम लोगों के गले नहीं उतर रहा है।ऐसे में भाजपा द्वारा भाजपा नेता संतोष यादव के प्रत्याशी को दरकिनार कर मसाला सिंह समर्थक इंदु देवी को भाजपा ने अपना प्रत्याशी बना दिया गया।