गाजीपुर-नौकरी छोड़ कर भाग रहे पंचायत सहायक, आइए कारण जानें

गाजीपुर- गांव के मिनी सचिवालय में पंचायत सहायक की नौकरी के लिए चयनित लोग काम शुरू करने से पहले ही त्यागपत्र का आवेदन देकर भाग रहे है। सरकारी नौकरी की तलाश में भटक रहे शिक्षित युवाओं को पंचायत सहायक कम डाटा इंट्री ऑपरेटर की नौकरी अपनी ओर आकर्षित नही कर पा रही है। शुरुआती दौर में जब यह पद सृजित किया गया था। उस समय बड़ी संख्या में बीटेक, डिप्लोमा, डिग्री, पीजी, बीएड, एमए, एमकॉम पास युवक युवतियों ने आवेदन किया था। गांवों में पंचायत भवन में डाटा इंट्री का कार्य करने के लिए शैक्षिक योग्यता इंटर पास ही रखा गया है। जिन्हें ऑनलाइन जन्म मृत्यु प्रमाणपत्र बनाने, ग्रामनिधि, विकास कार्य, समेत गांवों से जुड़े कार्यो की ऑनलाइन फीडिंग और मुख्यालय रिपोर्ट भेजने का काम करना है। जिसके लिए पंचायत राज विभाग ने ग्रामसभा स्तर पर आवेदन मांगे थे। पंचायत सहायक के लिए बिना कम्प्यूटर योग्यता के सिर्फ इंटरमीडिएट मेरिट के आधार पर चयनित अभ्यर्थी युवक युवतियां नियुक्ति के बाद कम्प्यूटर का जरूरी कोर्स की प्रशिक्षण ले रहे है। मात्र छह हजार मासिक वेतन की वजह से भी कई लोग इस नौकरी को छोड़कर भाग रहे है।