गाजीपुर-न्याय के लिए कबतक भटकता रहेगा श्रवण ?

गाजीपुर-थाना करीमुद्दीनपुर अंतर्गत असावर गांव निवासी श्रवण कुमार भारती पुत्र भवन राम उम्र लगभग 35 वर्ष को उसके गांव के कुछ मनबढ़ लोगों ने बुरी तरह पीट दिया।घटना के संबंध में बताया जाता है कि पीड़ित असावर का रहने वाला है तथा वह अपनी मां और भाइयों के साथ रोजी रोटी कमाने के लिए कुछ दिनों से फेफना में रह कर कैमरा से फोटो खींचने का काम करता था। उसने असावर स्थित अपने पुश्तैनी मकान को बंद कर दिया और वहां रोजी-रोटी कमा रहा था ।अचानक उसे अपने पुश्तैनी मकान की याद आई और वह अपने गांव वापस आया। साथ में उसकी पत्नी , मां और छोटा भाई भी साथ थे। लेकिन जब वह घर में घुसने लगा तो उस गांव के ही मनबढ़ युवकों ने उसे घर मे प्रवेश करने से रोक दिया और कहा सुनी पर उतारू हो गए। परिणाम यह हुआ कि बवाल कर रहे दबंगों ने उसे लाठी-डंडे और लात घुसो से मारना शुरू किए।साथ ही उन्होंने उसके सिर पर भी वार किया,जिससे उसका सिर बुरी तरह फट गया। बेचारा डरा हुआ वह अपने परिवार के साथ नवादा पुलिस चौकी आया लेकिन चौकी की पुलिस ने उसे थाना करीमुद्दीनपुर जाने की सलाह दी। थाना करीमुद्दीनपुर पहुंचने पर उसने नामजद प्राथमिकी दर्ज कराई। उसने लल्लन पुत्र मुरत और सुधीर पुत्र लल्लन पर प्राथमिकी दर्ज कराई ।लेकिन अभी तक पुलिस ने प्राथमिकी दर्ज करने के बाद भी कोई एक्शन नहीं लिया।परिणाम यह हुआ कि डर के मारे श्रवण इधर-उधर रिश्तेदारों के यहां अपने परिवार को लेकर भटक रहा है। यह देखना अभी बाकी है करीमुद्दीनपुर थाना पुलिस उसे न्याय दिलाती है या वह न्याय के लिए भटकता ही रहेगा।समाचार लिखने तक पीड़ित इधर-उधर रिश्तेदारों के पास ही रह रहा है।

Also Read:  फिरौती मांगने का आरोपी गया जेल