गाजीपुर-प्रतिशोध में दी मौत

0
888

गाजीपुर। बीते दिनों मरदह थाना क्षेत्र के बोगना गांव निवासी अनिल सिंह की गोली मारकर हत्या की वारदात को अंजाम दिया गया था। पुलिस ने दो हत्यारोपियों को गिरफ्तार कर मामले का पर्दाफाश कर दिया। शुक्रवार को पुलिस कार्यालय में आयोजित प्रेसवार्ता में पुलिस अधीक्षक डा. ओमप्रकाश सिंह ने अभियुक्तों को मीडिया से मुखातिब कराते हुए बताया कि गिरफ्तार में आए अभियुक्तों के पास से हत्या में प्रयुक्त दो पिस्टल और कारतूस भी बरामद किया गया।
उन्होंने बताया कि बीते 19 अक्टूबर की देर शाम मरदह थाना क्षेत्र के बोगना में गोली मारकर अनिल सिंह का हत्या की गई थी। इस मामले में एक नामजद सहित छह लोगों के विरुद्ध मुकदमा पंजीकृत कर बदमाशों की तलाश जारी थी। इसी क्रम में शुक्रवार की सुबह प्रभारी निरीक्षक कमलेश यादव पुलिस कर्मियों के साथ बरही चट्टी पर मौजूद थे। इसी बीच मुखबिर से सूचना मिली कि हत्या की वारदात को अंजाम देने वाले क्षेत्र के बोगना निवासी अतुल सिंह उर्फ नन्हें तथा खुशनारायन सिंह उर्फ खुशी रायपुर कैनाल के पास मौजूद है। इस सूचना पर पुलिस तत्काल मौके के लिए रवाना हो गई। पहुंचने पर जैसे ही बदमाशों की नजर पुलिस पर पड़ी, वह भागने चाहे, लेकिन पुलिस ने घेरेबंदी कर दबोच लिया। अभियुक्तों की निशानदेही पर बोगना गांव के दक्षिण तरफ सीवान में बने ट्यूबवेल के पास दो 32 बोर का पिस्टल तीन कारतूस बरामद किया गया। पूछताछ में अभियुक्त अतुल सिंह ने बताया कि तीन वर्ष पहले अनिल कुमार सिंह द्वारा मुझे बाम्बे (महाराष्ट्र) में मारी पाटी गया था, जिसमें मुझे काफी चोट आई थी। संयोगवश मैं बच गया और घर आकर रहने लगा। अनिल यदा-कदा घर आता था और पुनः बाम्बे चला जाता था। इसी घर आया तो उसे देख मुझे गुस्सा आया। इसी रंजिश को लेकर लेकर हम दोनों लोग पिस्टल लेकर अनिल के दरवाजे पर पहुंचे और उसे गोली मार दी। गिरफ्तार करने वाली टीम में प्रभारी निरीक्षक के साथ उप निरीक्षक योगेंद्र कुमार, उप निरीक्षक चंद्रशंकर मिश्रा, कांस्टेबल रामजीत, कां. बृजेश कुमार और कां. राजेश तिवारी शामिल थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here