गाजीपुर-अक्सर जनपद के विभिन्न क्षेत्रों से फर्जी पत्रकारों के धमकी देकर अवैध वसूली की खबरें आती रहती हैं। ऐसे वसूली गैंग के पत्रकार फर्जी आईडी लेकर तमाम परिषदीय विद्यालय में, ग्राम प्रधानों ,पंचायत सचिव और झोलाछाप डॉक्टरों को अपना निशाना बनाते रहते हैं।आज मरदह विकासखंड के कम्पोजिट विद्यालय इंदौर के अध्यापक ने ऐसा ही आरोप लगाते हुए विडिओ वायरल करते हुए बताया कि कुछ फर्जी पत्रकार फर्जी आईडी लेकर पहुंचे और वहां के अध्यापकों को धमकी देकर 10 हजार की डिमांड किया। वहां के अध्यापकों ने जब उनके अवैध वसूली का विरोध किया और उनसे उनका परिचय पत्र मांगा तो फर्जी पत्रकार नाराज हो कर अध्यापकों को निलंबित कराने की धमकी देने लगे।इस पर कम्पोजिट विद्यालय में कार्यरत अध्यापकों ने बच्चों के अभिभावकों को फोन करके बुला लिया और अभिभावकों से कहा कि ऐसे फर्जी पत्रकार आकर के पठन-पाठन कार्य में अवरोध उत्पन्न करते हैं और धमकी देकर अवैध धन की उगाही करते हैं। अध्यापकों द्वारा ऐसा कहे जाने पर ग्रामीणों ने लाठी डंडा लेकर फर्जी पत्रकारों को मारने के लिए दौड़ा लिया और फर्जी पत्रकार आईडी और जिस हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट की गाड़ी से गए थे उसे छोड़कर भाग पड़े। वहां के अध्यापकों ने इन फर्जी पत्रकारों के पल-पल की वीडियो बना कर जनपद के शिक्षक समूह के तमाम व्हाट्सएप ग्रुप में तथा मीडिया ग्रुप में शेयर कर दिया। गाजीपुर जनपद के ईमानदार पत्रकार जो वास्तव में भूखे पेट रह कर भी पत्रकारिता की अलख को जगाए हुए हैं वह इस वायरल विडिओ को देखकर अवाक रह गए और आपस में चर्चा करने लगे कि इन फर्जी पत्रकारों की वजह से अच्छे और ईमानदार पत्रकारों की भी को भी लो हेय दृष्टि से देखने लगे हैं ।ऐसे लोगों को कठोर दंड मिलना चाहिए। इससे पत्रकार और पत्रकारिता का मान सम्मान लोगों की नजर में बरकरार रहेगा।