गाजीपुर-बसपा नेता का सुसाइड नोट ,क्या गुल खिलायेगा ?

0
305

गाज़ीपुर। सदर कोतवाली क्षेत्र के महाराजगंज निवासी वृद्ध बर्तन व्यवसायी व बसपा नेता ने मंगलवार की रात विषाक्त पदार्थ का सेवन कर आत्महत्या कर ली। इसके साथ ही मौके से बरामद सुसाइड नोट पर वृद्ध के हवाले से बसपा नेताओं पर बड़ा आरोप लगाया गया है। घटना के बाद पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया और सुसाइड नोट के प्रमाणिकता की जांच में जुट गई है। नगर निवासी बर्तन कारोबारी मुन्नू प्रसाद 62 के तीन पुत्र हैं। एक पुत्र दीपक पिता के साथ रहकर व्यवसाय में सहयोग करता है, जबकि अन्य दो पुत्र डब्लू और बब्लू मां दुर्गा देवी के साथ मुंबई में रहते हैं। बुधवार की सुबह 6 बजे दीपक रोज की तरह चाय लेकर अपने पिता मुन्नू प्रसाद को जगाने कमरे में गया तो कमरे का दृश्य देख अवाक रह गया। पिता मृत पड़े थे। उसके चीखने चिल्लाने पर आस पास के लोगों की भीड़ जुट गयी। सूचना मिलते ही महाराजगंज चौकी प्रभारी राजेश कुमार मिश्र पुलिस बल के साथ घटनास्थल पहुंचे और शव को कब्जे में पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। राजेश कुमार मिश्र को मृतक के चारपाई पर एक सुसाइड नोट मिला है। मुन्नू प्रसाद बर्तन कारोबारी थे तथा बसपा के सक्रिय सदस्य रहे और बसपा के कार्यक्रमों के बढ़-चढ़कर हिस्सा लेते थे। पार्टी के लिए वो चार पहिया वाहन से सहयोग भी करते थे। लोगों ने बताया कि कुछ दिनों से मुन्नू क्षेत्र में लोगों से कहा करते थे कि इस बार सदर विधानसभा से विधायकी का चुनाव मैं ही लडूंगा, बसपा सुप्रीमो से बात हो गयी है। उसने सुसाइड नोट में पार्टी नेताओं पर बड़ा आरोप लगाते हुए इस बात का जिक्र किया है कि टिकट के लिए मुझसे 2 करोड़ की मांग की गयी है। इस बाबत कोतवाली प्रभारी विमल मिश्र ने बताया कि बरामद सुसाइड नोट की जांच की रही कि यह प्रायोजित है या इसका घटना से कोई सम्बन्ध है। फिलहाल कुछ कहना जल्दबाजी होगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here