गाजीपुर-बेटी का कन्यादान उसके भाग्य मे नहीं था

0
751

गाजीपुर-दुल्लहपुर थाना क्षेत्र के कुंदनपुर गांव में ताड़ के पेड़ की सफाई कर रहे गछुआ/मजदूर की गिरने से मौत हो गई। सुबह ग्रामीण जब उधर से शौच को गुजरे तो मजदूर का शव देख घटना का पता चला। बड़ागांव उर्फ मुस्तफाबाद निवासी छरछू राजभर आयु 35 वर्ष कुंदनपुर गांव के बाहर स्थित ताड़ के पेड़ पर चढ़कर शनिवार की सुबह सफाई कर रहा था। इस बीच अचानक उसके साथ से पेड़ का पत्ता हाथ छूट गया और वह सीधे नीचे गिर पड़ा। जिससे उसे सिर में गंभीरता चोट लगने से उसकी मौके पर ही मौत हो गई। पेड़ के गांव से बाहर होने के चलते किसी को तुरंत घटना का पता नहीं चल सका। इसके बाद सुबह जब ग्रमीण शौच को उधर पहुंचे तो उसकी लाश देख हड़कंप मच गया। परिजन उसे लेकर अस्पताल पहुंचे लेकिन वहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। जिसके बाद परिजनों में कोहराम मच गया। मृतक ईंट भट्ठे पर ईंट पथाई करके व ताड़ी उतारकर परिवार का भरण पोषण करता था। लोगों का कहना था कि उसकी मौत ही वहां खींचकर ले गई थी, क्योंकि पेड़ इतना लंबा था कि उस पर चढ़ने की कोई हिम्मत नहीं करता था लेकिन कमाई के चक्कर में छरछू ने सफाई की हामी भर दी। उसकी मौत के बाद परिजनों में कोहराम मच गया। मृतक के 3 पुत्र व 3 पुत्रियां छोड़ गया है। बड़ी बेटी की आगामी मई में शादी तय थी लेकिन बेटी का कन्यादान शायद उसकी किस्मत में नहीं था।

Leave a Reply