गाजीपुर-ब्लाक प्रमुख व उसके मामा पर लटक रही कानून की तलवार

939

गाजीपुर-अपने कुख्यात तस्कर पिता अमरनाथ यादव को पुलिस कस्टडी से भगाने और करण्डा बीडीओ अनिल श्रीवास्तव पर जानलेवा हमला कर सुर्खियों में आए करंडा ब्लाक प्रमुख आशीष यादव और उनके ननिहाल से जुड़े रिश्तेदारों की उल्टी गिनती शुरू हो गई है। डीएम ऑफिस से जुड़े विश्वसनीय सूत्रों के अनुसार पुलिस और खुफिया विभाग की रिपोर्ट के आधार पर गुरुवार को जिलाधिकारी आर्यका अखौरी ने गैंगस्टर एक्ट के तहत ब्लाक प्रमुख व उसके मामा की अवैध संपत्तियों को जप्त करने की फाईल पर मुहर लगा दी है।हालांकि इसकी अभी अधिकारिक तौर पर पुष्टि नहीं हो पाई है, लेकिन सूत्र बताते हैं कि संपत्ति जब्ती के लिए हरी झंडी मिल चुकी है। आपको बताते चलें कि आशीष यादव ने ब्लॉक प्रमुख पद कब्जा जमा कर अब भले ही सफेद चोला धारण कर लिया हो लेकिन उनकी पृष्ठभूमि अपराध जगत से जुड़ी हुई है। उनके पिता स्वर्गीय अमरनाथ यादव काफी चर्चित हीरोइन तस्कर थे। वर्ष 2015 में अपने पिता को पुलिस कस्टडी से भगाने के मामले में आशीष यादव समेत उसके सगे मामा जो शहर कोतवाली क्षेत्र के महाराजगंज इलाके में स्थित इस्लामाबाद गांव के निवासी है। उनके खिलाफ भी गैंगेस्टर सहित अन्य धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज किया था।तभी से ये पुलिस कार्यवाही से बचते चले आ रहे थे लेकिन योगी सरकार मू शामत आ गई है। सूत्र बताते हैं कि आशीष और उनके निहाल के करीबी रिश्तेदारों की चल- अचल संपत्ति खंगालने के लिए पुलिस व खुफिया विभाग की मदद ली जा रही है। दोनों टीमों की मानीटरिंग सीओ सिटी गौरव सिंह कर रहे हैं। सूत्र बताते हैं कि अवैध धंधे के कारोबार से जुड़े ब्लाक प्रमुख और उनके करीबी रिश्तेदारों जिसमें उसके सगे मामा रामध्यान यादव व रामज्ञान यादव पुत्र बहोरन यादव ने अवैध धंधे से करोड़ों की संपत्ति बना रखी है। सूत्रों के अनुसार पुलिस प्रशासन ने अपनी जांच पुरी कर रिपोर्ट डीएम आर्यका अखौरी के समक्ष पेश कर दी थी। जिसका संज्ञान में लेने के बाद डीएम ने गुरुवार को कोई गोपनीय आदेश जारी किया है। सूत्र बताते हैं कि डीएम ने अचल संपत्ति जब्ती का आदेश दिया है, लेकिन अभी इसकी आधिकारिक तौर पर पुष्टि नहीं हो पाई है। करण्डा ब्लॉक प्रमुख के सिर पर जनपद के एक वर्तमान विधायक का हाथ है जिसकी वजह से अब तक वह बचता रहा है लेकिन अब बचने की संभावना न के बराबर है। सूत्र बताते हैं कि विधायक का पूरा परिवार शुरू से ही स्वर्गीय अमरनाथ यादव और उसके बाद उसके बेटे का साथ देता चला आ रहा है। साभार-डेली न्यूज नेटवर्क

Play Store से हमारा App डाउनलोड करने के लिए नीचे क्लिक करें- Qries