गाजीपुर-भ्रष्ट अबकारी बिभाग और तीसरी आँख से निगहबानी

गाजीपुर-अधिकांश शराब दुकानों के सीसीटीवी कैमरे अक्सर खराब या बंद पड़े रहते है। सरकार और प्रशासन के साथ आबकारी विभाग ने सुरक्षा और सतर्क निगरानी के लिए सभी देशी अंग्रेजी शराब दुकान के साथ बियर के दुकानों पर तीसरी आंख के रूप में क्लोज सर्किट कैमरा लगाने को अनिवार्य किया है। मदिरा दुकानों पर मारपीट लूट एवं आपराधिक प्रवृत्ति वाले लोगों पर नकेल और नकली शराब बिक्री पर रोकथाम, शराब की कालाबाजारी पर लगाने के लिए सीसीटीवी कैमरे अनिवार्य किये गए है। मदिरा दुकान के संचालक और दुकानदारों की उदासीनता और लापरवाही से सीसीटीवी सिस्टम निष्प्रयोजन पड़ा हुआ है। कहीं कैमरे खराब तो कहीं डीवीआर खराब तो कहीं केबल फाल्ट की वजह से विडियो रिकॉर्डिंग के साथ सीधा प्रसारण भी नही हो पा रहा है तो कहीं आज तब सीसीटीवी कैमरा लगाया ही नही गया है। आबकारी विभाग के डीओ वीर अभिमन्यु ने बताया कि सभी शराब और बियर के फुटकर दुकानों पर निजी खर्चे से सीसीटीवी कैमरे लगाना अनिवार्य किया गया है। विभाग द्वारा नियमित इसकी जांच पड़ताल की जाती है। मदिरा दुकानों पर अंदर और बाहर की ओर लगे कैमरे सहित सीसीटीवी के सभी उपकरण सही और दुरुस्त रखने को निर्देशित किया गया है ताकि दुकान के अंदर और बाहर दोनों दृश्यों का लगातार बिना रुकावट के रिकॉर्डिंग किया जा सके। क्लोज सर्किट कैमरा सिस्टम न चलने की स्थिति में बैटरी कैमरा डीवीआर केबल आदि खराब होने का बहाना बनाने वालों पर कड़ी कार्यवाही की जाएगी।