गाजीपुर-मठ बना दो गुटों के मध्य युद्ध का मैदान

गाजीपुर-सर्वेश्वरी समूह गाजीपुर का एक प्रतिनिधिमंडल सोमवार को जिलाधिकारी एमपी सिंह से उनके कार्यालय मे मुलाकात की। इस दौरान बाबा कीनाराम एवं बाबा बौड़हिया मठ पर तथा कथित समिति का कब्जा और उनके समर्थकों द्वारा अराजकता एवं असामाजिकता के संदर्भ में पत्रक सौंपते हुए उनसे वार्ता की।

पत्रक के माध्यम से जिलाधिकारी को अवगत कराया कि कुछ माह पूर्व से ही मठ पर बढ़ती अनियमितता के क्रम में सर्वेश्वरी समूह गाजीपुर तथाकथित समिति के खिलाफ आवाज उठाता रहा है। इसी क्रम में पिछले माह में सदर कोतवाली में तथाकथित समिति ने लिखित रूप से अश्ववासन भी दिया था कि वह परिसर में सीसी टीवी कैमरा लगाएंगे और मठ में होने वाली आरती-पूजा को पूर्णता औघड़ पंथ और अन्य नियमों और अनुसाशन से संचालन करेंगे। कैमरा और अनुशासन तो दूर, मठ को आधुनिक विवाह समारोह के लिए किराए पर देकर मुजरा और फिल्मी गीत तक चलवाने के साक्ष्य प्रकाश में आए है।

Also Read:  गाजीपुर-पुर्व प्रधान व सचिव ने वर्तमान प्रधान को पाठ पढाया

इस घटना को हाल ही में इलेक्ट्रॉनिक एवं प्रिंट मीडिया ने भी विरोध के भाव मे आवाज उठाई थी। तथाकथित समिति अपनी मनमानियों के हो रहे लगातार विरोध के कारण रोज मठ की मान्यताओं को लेकर नई कहानियां बनाता है। जबकि उनमें से किसी का कोई ऐतिहासिक व पारिवारिक संबंध मठ से किसी प्रकार से नहीं है। हाल ही में तथाकथित समिति ने कुछ लोगो के नाम से एक पत्र जिलाधिकारी को दिया था। इममें यह बताया था कि वह लोग मठ पर जबरदस्ती सफेद झंडे की पूजा कर रहे है और मठ पर सिर्फ काले झंडा की पूजा होती है। जबकि प्रमाणिक साक्ष्य से यह ज्ञात हुआ कि सफेद झंडा की पूजा बाबा कीनाराम मठ पर 1978 से होती रही है। ऐसे ही निरर्थक तर्कों से तथाकथित समिति मनमानी करती रहती है और सर्वेश्वरी समूह के लोग एवं अन्य अनुयायी मठ की पौराणिक पवित्रता एवं हजारों लोगों के आस्था के स्थान की रक्षा के लिए संघर्ष कर रहे हैं।

Also Read:  वाराणसी-आटोमेटिक कोच वाशिंग प्लांट,8 मिनट में धुल जायेगी ट्रेन

पत्रक देने वालों में प्रतिनिधिमंडल जिलाधिकारी से मांग किया कि तथा कथित समिति के मठ पर नियंत्रण को तत्काल प्रभाव से रद्द किया जाए। सदस्यों के खिलाफ उचित कार्यवाही की जाए और मठ को प्रशासन की देख-रेख में संचालन की व्यवस्था की जाए। प्रतिनिधिमंडल में सर्वेश्वरी समूह के संजय कुमार सिंह, संजीव सिंह, लल्लन सिंह, मंटू राय, सचिता सिंह आदि शामिल थे।

Also Read:  गाजीपुर-बेहाल नागरिकों नें पत्रक सौंपा