गाजीपुर-मर्माहत कायस्थ समाज

0
180

गाजीपुर- 18 नवंबर 2020 को अखिल भारतीय कायस्थ महासभा गाजीपुर की एक आवश्यक बैठक महासभा के जिलाध्यक्ष अरुण कुमार श्रीवास्तव के चंदन नगर स्थित आवास पर आयोजित हुई । इस बैठक में महासभा के कार्यकर्ताओं ने भगवान श्री चित्रगुप्त जी की शोभायात्रा निकालने की अनुमति न दिये जाने पर जिला प्रशासन के रवैए की तीखे शब्दों में निन्दा किया ।
महासभा के जिला अध्यक्ष अरुण कुमार श्रीवास्तव ने कहा कि जिला प्रशासन का रवैया कत्तई ठीक नहीं था । जिला प्रशासन द्वारा शोभायात्रा की अनुमति न दिये जाने के फैसले को किसी भी दृष्टिकोण से उचित नहीं ठहराया जा सकता । महासभा ने सरकार की गाइडलाइंस के मुताबिक मात्र 100व्यक्तियों के साथ शोभायात्रा निकालने की अनुमति मांगी थी लेकिन प्रशासन ने ठीक एक दिन पहले कायस्थ समाज की धार्मिक भावनाओं का ध्यान न रखकर रात में शोभायात्रा न निकालने का निर्देश जारी कर दिया । जिला प्रशासन के इस फैसले से कायस्थ समाज की भावनाएं आहत हुई हैं । उन्होंने जिला प्रशासन से सवाल करते हुए कहा कि 100व्यक्तियों के साथ शोभायात्रा निकालने की अनुमति न देने वाला जिला प्रशासन छठ् पूजा के अवसर पर घाटों पर हजारों हजार लोगों की भीड़ जुटने की अनुमति कैसे प्रदान कर रहा है ? उन्होंने कहा कि अभी बिहार विधानसभा के चुनाव में भी चुनावी रैलियों में लाखों लोगों की भीड़ जुटी, वहां न तो कोविड19के मद्देनजर सरकार की गाइडलाइंस का पालन कराया गया और न ही सोशल डिस्टेंसिंग का ध्यान रखा गया । उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा कि जिला प्रशासन मनमाने फैसले ले रहा है । न सरकार का, न जिला प्रशासन का कोरोनावायरस महामारी से बचाव के लिए कोई स्पष्ट नीति नहीं है ।
इस बैठक में मुख्य रूप से महासभा के प्रान्तीय उपाध्यक्ष मुक्तेश्वर प्रसाद श्रीवास्तव,नगर अध्यक्ष अजय कुमार श्रीवास्तव,संजय सेवराई,अमर सिंह राठौर, राजेश श्रीवास्तव, शैल श्रीवास्तव,विपिन श्रीवास्तव डब्बू, विपिन बिहारी वर्मा,कमल श्रीवास्तव एडवोकेट, मोहनलाल श्रीवास्तव, अरुण सहाय, अनूप श्रीवास्तव,अश्रि्वनी श्रीवास्तव आदि उपस्थित थे ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here